india-vs-pakistan_1458408052

सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं क्रिकेट की वैश्निक संस्था अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) भी ‘मैच फिक्सिंग’ करती है, खासकर बड़े टूर्नामेंट्स में भारत और पाकिस्तान के बीच भिड़ंत को लेकर।

आईसीसी ने यह स्वीकार किया है कि बड़े टूर्नामेंटों की सफलता के लिए भारत और पाकिस्तान को एक ही ग्रुप में रखने का प्रयास किया जाता है। अगले साल होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी में भारत और पाकिस्तान को एक ही बी ग्रुप में रखा गया है और भारत का पहला मैच 4 जून को पाकिस्तान के साथ होना है।

यह लगातार पांचवां टूर्नामेंट है जबकि दोनों परंपरागत प्रतिद्वंद्वी एक ही ग्रुप में हैं। पिछले काफी समय से यह संदेह व्यक्त किया जा रहा था कि आईसीसी बड़े टूर्नामेंट के ड्रॉ में छेड़छाड़ करती है ताकि भारत और पाकिस्तान को एक ही ग्रुप में रखा जाएगा। यह पहला मौका है जब आईसीसी ने इस बात को स्वीकार किया है।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन ने कहा, ‘निसंदेह हमारी कोशिश होती है कि भारत और पाकिस्तान को एक ही ग्रुप में रखा जाए। भारत-पाक के चाहने वाले दुनिया भर में हैं। इसकी वजह से टूर्नामेंट को काफी प्रचार प्रसार मिलता है। टीवी पर भी यह मैच भारी तादाद में लोग देखते हैं।’

हालांकि रिचर्ड्सन ने इस बात से इनकार किया कि इससे टूर्नामेंट की अखंडता पर कोई असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि हम हमेशा ग्रुप बनाते समय रैंकिंग का ध्यान रखते हैं। ग्रुप इस तरह बनाए जाते हैं कि ज्यादा असंतुलन नजर नहीं आए। यदि ग्रुपों का संतुलन बना रहता है तो टूर्नामेंट पर कोई असर नहीं पड़ता।

ICC भी करती ‘मैच फिक्सिंग’, IND v PAK के लिए होता है ‘खेल’

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-