चुनाव की घोषणा होने के बाद सभी दलों में हलचल बढ़ गई है वहीं सपा अपना आंतर‌िक व‌िवाद सुलझाने में उलझी है। साइक‌िल चुनाव च‌िह्न क‌िसे म‌िले, ये फैसला अब तक नहीं हो पाया। अब चुनाव आयोग ने मुलायम और अखिलेश गुट से अपने-अपने समर्थन में विधायक, एमएलसी और एमपी का समर्थन का हलफनामा 9 जनवरी तक मांगा है। बताते चलें क‌ि मुलायम स‌िंह औ्र श‌िवपाल चुनाव आयोग को हलफनामा देने द‌िल्ली के ल‌िए रवाना हो गए।

बता दें क‌ि बीती 1 जनवरी को अखिलेश गुट ने आकस्मिक अधि‍वेशन बुलाया था। इस अध‌िवेशन में अख‌िलेश को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। इसके अलावा श‌िवपाल को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया गया और अमर स‌िंह को पार्टी से बाहर का रास्ता द‌िखा द‌िया गया। इसके बाद से ही सपा में दो फाड़ हो गई। हालांक‌ि मुलायम स‌िंह ने इस अध‌िवेशन को असंवैधान‌िक बताया। अब अ‌ख‌िलेश और मुलायम गुट में चुनाव च‌िह्न साइक‌िल को लेकर व‌िवाद है।

बीते ‌द‌िनों मुलायम स‌िंह यादव ने चुनाव आयोग के समक्ष अपनी बात रखी और अख‌िलेश के अध‌िवेशन को असंवैधान‌िक बताते हुए हलफनामा भी सौंपा। हालांक‌ि अख‌िलेश गुट के मुताब‌िक पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष क‌िरनमय नंदा ने इस अध‌िवेशन की अध्यक्षता की थी और ऐसी स्थ‌ित में अध‌िवेशन पूरी तरह से वैध है।

मुलायम के चुनाव आयोग से म‌िलने के बाद अख‌िलेश गुट से रामगोपाल यादव ने चुनाव आयोग से मुलाकात की। मुलाकात के बाद उन्होंने बताया क‌ि आयोग को सारी जानकारी दे दी गई है और फैसला हमारे पक्ष में आने की उम्मीद है।

सीएम ने आज विधायकों की बैठक बुलाई है। बैठक में हिस्सा लेने के ‌ल‌िए विधायक सुबह से ही ‌अखिलेश के आवास पहुंचने लगे।

इसमें विधानसभा और विधान परिषद के सदस्यों के सदस्य शामिल होंगे। विधायकों में अधिकतर प्रत्याशी हैं। माना जा रहा है कि  सीएम उनके साथ चुनाव की तैयारियों को लेकर चर्चा करेंगे।

कुछ लोगों को जिम्मेदारियां सौंपी जाएंगी। सिंबल न मिलने की स्थिति में चुनाव कैसे लड़ा जाए और सिंबल मिलने पर क्या रणनीति रहेगी, इस बारे में विधायकों से मशविरा करेंगे।

EC ने मुलायम और अखिलेश से मांगा अपने-अपने समर्थकों का हलफनामा

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-