train_1471665725

माेेदी के संसदीय क्षेत्र को जाने वाली वाराणसी-बरेली एक्‍सप्रेस ट्रेन को शनिवार सुबह हादसे की आशंका से रोक लिया गया। इस ट्रेन में फर्स्‍ट एसी कोच में सफर कर रहे पैसेंजर्स ने कंप्‍लेन की थी कि कोच के फर्श में लगी लोहे की प्लेटों से काफी तेज आवाजें आ रही हैंं। इसके बाद 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफतार से दौड़ रही ट्रेन को शाहगंज रेलवे स्‍टेशन पर रूकवाया गया। जानिए ट्रेन रूकने के बाद क्यों हैरान रह गए अधिकारी…..

8 दिन में खराब हुआ 2 करोड़ की लागत से तैयार कोच, डीआरएम ने दिए जांच के आदेश

– नार्दन रेलवेे के डीआरएम एके लोहाटी ने बताया कि वाराणसी- बरेली एक्‍सप्रेस ट्रेन में 12 अगस्‍त 2016 को एक नया एसी फर्स्‍ट का कोच अटैच किया गया था।

– 19 अगस्‍त की रात में ट्रेन वाराणसी से चलकर बरेली आ रही थी।

– इसी बीच ट्रेन के एसी फर्स्‍ट काेेच में सफर कर रहे पैसेंजर्स ने कंट्रोल को सूचना दी कि कोच के नीचे से अजीब से आवाजें आ रही हैं।

– इसके बाद ट्रेन को अगले स्‍टेशन शाहगंज पर रूकवाया गया।

– रेलवे अधिकारियों ने जब कोच का जायजा लिया तो पाया कि कोच के नीचे लगी लोहे की प्‍लेटों से आवाज आ रही थी।

– आनन फानन में उस कोच को ट्रेन से अलग करवाकर ट्रेन को आगे भिजवाया गया।

– इसी वजह से ट्रेन 4 घंटे देरी से दौड़ रही थी।

– 8 दिन में ही कोच की इस दुर्दशा पर जांच बैठाई गई है।

– इस कोच की लागत 2 करोड़ के करीब है।

 

100 Km/hr की स्पीड से दौड़ रही थी ट्रेन, पैसेंजर्स की कंप्लेन पर काटा गया फर्स्ट AC का कोच

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-