हैदराबाद/कोलकाता। भारत और बांग्लादेश के बीच 8 फरवरी से निर्धारित एकमात्र टेस्ट मैच यदि हैदराबाद में नहीं हो पाया तो बीसीसीआई ने इसके लिए कोलकाता को स्टेंडबाय पर रखा है।

अन्य राज्य इकाइयों की तरह हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन (एचसीए) भी इस समय जस्टिस लोढ़ा समिति की सिफारिशों के मुताबिक अपने संविधान में संशोधन की प्रक्रिया से गुजर रहा है। लेकिन एचसीए के सचिव के. जॉन मनोज ने कहा कि उनके एसोसिएशन ने इस टेस्ट मैच की तैयारियां शुरू कर दी है। यह बांग्लादेश का भारत में पहला टेस्ट मैच होगा।

मनोज के अनुसार एचसीए ने स्टेडियम के अंदर के अधिकारों के लिए निविदाएं जारी कर दी है और बीसीसीआई क्यूरेटर पीआर विश्वनाथ इस मैच के लिए मैदान और पिच का निरीक्षण करेंगे।

मनोज ने कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोग इस तरह की अफवाह फैला रहे है कि हैदराबाद में यह टेस्ट मैच नहीं होगा। यह एसोसिएशन के लिए गर्व की बात है और इस ऐतिहासिक मैच का आयोजन किया जाएगा। वैसे हैदरबाद को इस मैच के आयोजन के लिए बीसीसीआई से फंड की दरकार रहेगी।

इस बीच बीसीसीआई ने कोलकाता के ईडन गार्डंस को तैयार रहने को कहा है। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड तो यह मैच कोलकाता में ही खेलना चाहता था, क्योंकि वहां उसे काफी समर्थन मिलेगा। लेकिन बीसीसीआई ने अपनी रोटेशन नीति के तहत मैच का दायित्व हैदराबाद को सौंपा है। अब इस बारे में स्थिति 19 जनवरी के बाद ही स्पष्ट हो पाएगी जब बीसीसीआई को संचालित करने वाली तीन सदस्यीय समिति काम संभालेगी।

हैदराबाद नहीं तो कोलकाता में होगा भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-