नई दिल्‍ली। पहले बीएसएफ, सीआरपीएफ और अब सेना के एक जवान द्वारा अलग-अलग मामलों को लेकर जारी किए वीडियो पर सरकार तथा सेना हरकत में आ गई है। जहां सरकार ने बीएसएफ जवान के मामले में गृह मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी है, वहीं अब इस पूरे मामले में सेना प्रमुख बिपिन रावत का बयान आया है।

सेना प्रमुख ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए कहा कि जवानों की जो भी समस्‍याएं हैं उन्‍हें लेकर वो सोशल मीडिया में ना जाएं और सीधे मुझे शिकायत करें, हम उनका समाधान करेंगे। आर्मी हेडक्‍वार्टर और बाकी कमांड्स में सुझाव और शिकायत बॉक्‍स लगे हैं, जिसे भी शिकायत हो वो उसमें डाल सकता है, हम उसे देखेंगे।

उन्‍होंने आगे कहा कि जहां एक तरफ हमारे लिए सीमा पर कई चुनौतियां हैं, वहीं हम हमारे देश के धर्मनिरपेक्षता के धागे को प्रभावित करने वाली प्रॉक्‍सी वॉर को लेकर भी चिंतित हैं।

उन्‍होंने कहा कि अगर कोई सैनिक उसका नाम बताते हुए अपनी समस्‍या हमसे साझा करता है तो हम इस बात का पूरा ख्‍याल रखेंगे कि उसकी पहचान उजागर ना हो। अगर वो हमारे द्वारा की गई कार्रवाई से संतु‍ष्‍ट नहीं है तो वो फिर अपनी बात कहीं भी रख सकता है।

बता दें कि बीएसएफ जवान तेज बहादुर और सीआरपीएफ जवान जीत सिंह के बाद शुक्रवार को सेना के लांस नायक यज्ञ कुमार का वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें उन्‍होंने अधिकारियों द्वारा जूते साफ करवाने के आरोप लगाए हैं।

सोशल मीडिया की बजाय मुझसे करें शिकायत: बिपिन रावत

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-