rupees-note_1457203551

संसदीय कमेटी ने सांसदों की सैलरी और भत्तों में 100 फीसदी का इजाफा करने का प्रस्ताव रखा है। यह प्रस्ताव दिए जाने के पीछे सासंदों के अच्छे व्यवहार को वजह बताया गया है।

संसदीय कमेटी ने प्रस्ताव रखा है कि सांसदों की सैलरी को 50 हजार रुपए से लेकर 1 लाख रुपए प्रति माह किया जाए। साथ ही संसदीय क्षेत्र के भत्ते को भी 45 हजार रुपए प्रतिमाह से बढ़ाकर 90 हजार रुपए प्रतिमाह करने का प्रस्ताव दिया गया है।

संसद के अगले सत्र में सैलरी बढ़ाने के प्रस्ताव पर मंजूरी के लिए बिल भेजा जाएगा। अगर इस बिल को मंजूरी मिल जाती है तो सांसदों को मिलने वाला कुल वेतन 1.4 लाख रुपए से 2.8 लाख रुपए प्रतिमाह तक हो जाएगा।

भाजपा के योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में इस कमेटी ने पेंशन में भी 75 फीसदी की बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव रखा है। सांसदों की सैलरी में इससे पहले 6 साल पहले बढ़ोत्तरी हुई थी।

संसद में इस प्रस्ताव को मंजूरी दिलाने के लिए ले जाने से पहले इसे सभी मंत्रालयों को भेजा गया है, ताकि संसद की मंजूरी से पहले सभी मंत्रालयों के सुझावों को ध्यान में रखा जा सके।

समाजवादी पार्टी के नरेश अग्रवाल ने भी सोमवार को राज्य सभा में सासंदों की सैलरी बढ़ाए जाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि सभी चाहते हैं कि सैलरी बढ़े, लेकिन डर की वजह से कोई बोल नहीं रहा है।

विपक्षी पार्टी कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने भी नरेश अग्रवाल की इस बात का समर्थन करते हुए कहा कि विपक्ष से मैं अपने दोस्त नरेश अग्रवाल का समर्थन करता हूं। वे बोले कि महंगाई का असर सभी पर पड़ता है और सांसद भी उनमें से एक हैं।

सांसदों के वेतन में हो सकता है 100% का इजाफा, 2.8 लाख तक पहुंचेगी सैलरी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-