shivpal_26_10_2016

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में सपा के अंदर चल रहा संग्राम जारी है। इस आग में तब और घी पड़ गया जब पार्टी ने अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले उनके कैबिनेट मंत्री पवन पांडे को 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया। पवन पांडे पर आशु मलिक को चांटा मारने का आरोप था जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

आशु पटेल ने पवन पांडे पर आरोप लगाया था कि पांडे ने मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव के आवास पर उन्‍हें चांटा मारा था। उनकी शिकायत के बाद जहां पार्टी ने कार्रवाई की है वहीं मुख्‍यमंत्री से भी मांग की गई है कि वो पवन पांडे को मंत्री पद से बर्खास्‍त करें। इसे लेकर शिवपाल यादव ने अखिलेश को पत्र भी लिखा है।

अपने पत्र की जानकारी देते हुए शिवपाल यादव ने मीडिया को बातया कि हमने मुख्‍यमंत्री जी को पत्र लिखा है और मांग की है कि पवन पांडे को मंत्रि‍मंडल से हटाएं। वहीं कलह को लेकर अपनी पुरानी लाइन दोहराते हुए बोले कि पार्टी में कोई कलह नहीं है और जैसा नेताजी कहेंगे हम वैसा काम करेंगे।

बता दें कि सपा में चल रहा विवाद अब भी थमा नहीं है और मंत्रि‍मंडल में शिवपाल समेत अन्‍य मंत्रियों की वापसी को लेकर मुलायम ने भी फैसला अखिलेश पर छोड़ा है।

 

सपा से निकाले गए मंत्री पवन पांडे

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-