29_10_2016-sldc

लखनऊ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज बिजली विभाग की नवीन स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर परियोजना का लखनऊ के गोमतीनगर में लोकार्पण किया। इसे यूपी सरकार की 18 से 24 घंटे तक बिजली देने की तैयारी का एक कदम माना जा रहा है। इसके तहत क्रमबद्ध तरीके गांवों में 16 से 18 घंटे, अर्ध शहरी क्षेत्रों को 18 से 20 घंटे और शहरों में 20 से 24 घंटे की बिजली दी जाएगी। एसएलडीसी से बड़ी से छोटी लाइनों को मॅानिटर किया जाता है। इसी सेंटर से पूरे प्रदेश में कितनी एनर्जी कहां देनी है, उसकी डीटेल्स मौजूद होती हैं। लखनऊ के विभूति खंड में एसएलडीसी यानी स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर बनकर तैयार हो चुका है। ये अभी तक बिजली विभाग के मुख्यालय शक्ति भवन से कंट्रोल होता है।

जितनी देर के लिए किसी जिले की लाइट को बंद किया जाता है, उतनी देर के लिए उस जिले की लाइट को दूसरी जगह ट्रांसफर कर दिया जाता है। ये प्रॉसेस पूरी तरह से ऑनएयर होता है। इसके वायर्ड होने से कुछ सेकेंडों में ही बिजली एक जगह से दूसरी जगह ट्रांसफर हो जाती है। अब इसके तहत सभी ग्रामीण इलाकों की सप्लाई 14 घंटे से बढ़ाकर 16 घंटे की जाएगी। अर्धशहरी इलाकों की बिजली 18से 20 घंटे की जाएगी।वहीं, शहरी इलाकों की बिजली 20 से बढ़ाकर 24 घंटे की जाएगी।जिन शहरी इलाकों में 24 घंटे लाइट दी जानी है, उनमें लखनऊ, गाजियाबाद समेत प्रदेश के 7 जिले भी शामिल हैं।20 घंटे से लेकर 24 घंटे तक की बिजली मिलने वाले शहरों में कानपुर, इटावा, सैफई, रामपुर, बरेली, मुरादाबाद, सहारनपुर आदि शामिल हैं।

सपा सरकार बनी तो गांवों को मिलेगी 24 घंटे बिजली: मुख्यमंत्री

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-