chopper-scam

कांग्रेस नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के शासन के दौरान 12 अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर की खरीद के 3600 करोड़ रुपए के सौदे में हुए भ्रष्टाचार में कांग्रेस बुरी तरह फंस गई है। इस मामले को भाजपा ने दोनों सदनों में उठाने का फैसला किया है। राज्यसभा में इस मुद्दे को बुधवार को सुब्रह्मण्यम स्वामी उठाएंगे। लोकसभा में मीनाक्षी लेखी बुधवार को मुद्दा उठाएंगी।

दरअसल, मीडिया में खबर है कि इटली की कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर बनाने वाली कंपनी फिनमैकेनिका के प्रमुख जिउसेपे ओरसी और इसके हेलिकॉप्टर डिवीजन के सीईओ ब्रुनो स्पाग्नोलिनी को भारतीय अधिकारियों को करीब 120 करोड़ रुपए रिश्वत देने का दोषी पाया है। उन्होंने कोर्ट में बताया कि किस तरह सौदा हासिल करने के लिए कांग्रेस नेताओं को रिश्वत दी गई।

इसी को आधार बनाते हुए भाजपा ने कांग्रेस से पूछा है कि वह रिश्वत लेने वालों के नाम बताए। भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को घेरने की रणनीति बनाई है। कांग्रेस ने पलटवार करते हुए सरकार से मामले की जांच तेज करने को कहा जिससे सच सामने आ सके।

केंद्रीय संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी से कहा कि वह उन नेताओं के नाम बताएं जिन्होंने रिश्वत ली है। प्रसाद के अनुसार एंटनी ने मार्च 2013 में कहा था कि हेलिकॉप्टर खरीद मामले में भ्रष्टाचार हुआ है। अब जबकि रिश्वत देने वालों पर दोष साबित हुआ है, रिश्वत लेने वाले चुप क्यों हैं?

कोर्ट का आदेश पढ़कर सुनाया प्रसाद ने इटली की कोर्ट का आदेश पढ़कर सुनाया जिसमें लिखा है- इस बात का पर्याप्त विश्वास किया जा सकता है कि भ्रष्टाचार हुआ है। यह सिद्ध हो चुका है कि भारतीय अधिकारियों को 1-1.5 करोड़ डॉलर दिए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इटली की कोर्ट ने फैसले में बताया है कि किस तरह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी उनके सहयोगी तत्कालीन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एमके नारायण और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सामने कंपनी ने लॉबिंग की। सोनिया को “ड्राइविंग फोर्स” बताया गया है।

फैसला कब आया और उसमें क्या

  • 8 अप्रैल को मिलान कोर्ट ऑफ अपील्स ने इस मामले पर फैसला दिया।
  • कोर्ट ने पूर्व वायु सेना प्रमुख एसपी त्यागी को भी दोषी माना है। इस फैसले में त्यागी पर 17 पृष्ठ हैं।
  • सोनिया गांधी का नाम चार बार आया। इसमें सीधे ‘सोनिया गांधी’ की जगह ‘सिग्नोरा गांधी’ कहा गया है। ‘सिग्नोरा’ का मतलब है ‘श्रीमती’।
  • फैसले में उस वक्त प्रधानमंत्री रहे डॉ. मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेताओं- अहमद पटेल और ऑस्कर फर्नांडीस के साथ तत्कालीन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एमके नारायणन का भी जिक्र है।
  • साल 2013 में अगस्ता वेस्टलैंड के अधिकारी गुसिप उर्सी की लिखी चिट्ठी में मनमोहन सिंह का जिक्र है। उर्सी भ्रष्टाचार के आरोपों में इस वक्त जेल में बंद है।

अगस्ता वेस्टलैंड सौदा

  • फरवरी 2010 में यूपीए सरकार ने 12 अगस्ता वेस्टलैंड ए डब्ल्यू 101हेलिकॉप्टरों के ऑर्डर पर दस्तखत किए। सौदा 3600 करोड़ रुपए में हुआ।
  • फरवरी 2013 में फिनमैकेनिका के ओरसी और अगस्ता के स्पेग्नोलिनी की इटली में गिरफ्तारी के बाद सौदा रोक दिया गया।
  • जांच सीबीआई को सौंप दी गई।
  • 2014 में सौदा रद्द कर दिया गया। इंटीग्रिटी क्लाज के उल्लंघन को इसका कारण बताया गया। सरकार ने एडवांस में दी राशि भी वापस ले ली।

यूपीए सरकार ने सौदे को रद्द कर दिया था। यूपीए सरकार ने मिलान कोर्ट में यह केस जीता था। राजग सरकार इस मामले की सीबीआई जांच कराए। – एके एंटनी, पूर्व रक्षा मंत्री

मेरी पहली प्रतिक्रिया शॉक है। कोई भला ऐसे कैसे कह सकता है। इसका आधार क्या है? मिलान की कोर्ट ने फैसले में कहा है कि भ्रष्टाचार का कोई मामला नहीं है। – एसपी त्यागी, पूर्व वायुसेना प्रमुख

 

संसद में गूंजेगा हेलिकॉप्टर घोटाला, भाजपा आक्रामक

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-