नागपुर। नागपुर महानगरपालिका के नतीजे चौंकाने वाले रहे। शिवसेना और भाजपा का प्रदर्शन जहां पूरे प्रदेश में बेहतर रहा, वहीं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यानी आरएसएस के इस गढ़ में उद्धव ठाकरे की पार्टी अब तक खाता भी नहीं खोल पाई है।

माना जा रहा है कि उद्धव ठाकरे ने जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके फैसलों की लगातार आलोचना की, यह उसका असर है।

नागपुर की 151 सीटों में से अब तक भाजपा को 40 पर बढ़त मिली है। शिवसेना शुरू से शून्य पर है। वहीं कांग्रेस के खाते में 19 सीटें जाती नजर आ रही हैं। राकांपा को एक तो अन्य के दो सीटों से संतोष करना पड़ सकता है।

संघ के गढ़ में खाता भी नहीं खोल पाई शिवसेना

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-