नोटबंदी के 13 दिन बीत जाने के बाद भी बैंकों और एटीएम में खत्म न होती भीड़ को देखते हुए सरकार ने कर्जदारों को मासिक किस्त भुगतान में थोड़ी राहत दे दी है, लेकिन शादी वाले परिवारों को 2.5 लाख रुपये नकद देने पर कई कड़ी शर्तें थोप दी है।  कर्जदारों को अब मासिक किस्त भुगतान के लिए 60 दिन अतिरिक्त मिल गए हैं जबकि शादी वाले उन्हीं परिवारों को नकद देने का प्रावधान रखा है जिनके खातों में 8 नवंबर तक पर्याप्त रकम जमा हो। उनके लिए आवेदन के साथ विवाह भवन और कैटरर आदि की बुकिंग अग्रिम भुगतान की प्रतियां और शादी के निमंत्रण कार्ड की प्रति भी संलग्न करना अनिवार्य होगा।

देशभर में नकदी पहुंचाने के संकट से जूझ रहे भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मकान, कार, खेत या अन्य वस्तुओं पर कर्ज लेने वालों को मासिक किस्त भुगतान के लिए 60 दिन का अतिरिक्त समय देने का प्रावधान किया है। आरबीआई ने अधिसूचना जारी कर कहा कि यह छूट 1 नवंबर से 31 दिसंबर के बीच कर्ज की किस्त देने वाले कर्जदारों पर ही लागू होगी। यह छूट उन्हीं लोगों को मिलेगी जिन्हें किसी भी बैंक से 1 करोड़ रुपये तक की संपत्ति के लिए कर्ज दिया गया है। इसमें व्यक्तिगत या व्यावसायिक कर्ज समेत मकान कर्ज और कृषि कर्ज भी शामिल है।

आरबीआई ने 2.5 लाख रुपये तक नकद शादी खर्च देने पर भी कई कड़ी शर्तें थोप दी है। केंद्रीय बैंक की अधिसूचना में कहा गया है कि शादी वाले उन्हीं परिवारों को 2.5 लाख रुपये दिए जाएंगे जिनके खातों में 8 नवंबर तक पर्याप्त रकम होगी। यानी जिन्होंने 8 नवंबर के बाद रकम जमा कराई है, उन्हें यह सुविधा नहीं मिलेगी।

आरबीआई ने एक और शर्त जोड़ते हुए कहा है कि निकासी की गई नकद राशि का इस्तेमाल सिर्फ उन्हीं लोगों को भुगतान करने के लिए किया जाना चाहिए जिनके पास अपना बैंक खाता नहीं है और शादी वाले परिवारों को नकद निकासी के वक्त ऐसे व्यक्तियों के नाम भी बताने होंगे। नकद निकासी के लिए आवेदन में परिवार को दूल्हा और दुल्हन के नाम, उनके पहचान पत्र, पते और शादी की तारीख भी बतानी होगी। इतना ही नहीं, नकद निकासी की सुविधा उन्हीं परिवारों को मिलेगी जिनके घर में 30 दिसंबर 2016 को या इससे पहले शादी हो।

अधिसूचना के मुताबिक, अपने रिश्तेदारों की शादी संपन्न कराने के लिए खाताधारकों को बैंकों द्वारा अधिकतम नकद राशि दिलाने का फैसला किया गया है। वे बैंक खातों से 30 दिसंबर 2016 तक अधिकतम 2.5 लाख रुपये निकाल सकते हैं। नकद निकासी या तो माता-पिता या फिर शादी करने जा रहा व्यक्ति ही कर सकता है। शादी वाले परिवार के किसी एक ही व्यक्ति को यह सुविधा मिलेगी। आवेदन के साथ उन्हें शादी के प्रमाण, मसलन निमंत्रण कार्ड, अग्रिम भुगतान की प्रतियां, हॉल बुकिंग और कैटरर को दी जाने वाली राशि की रसीद भी दिखानी होगी।

शादी के लिए 2.5 लाख निकालने को पूरी करनी होंगी RBI की शर्तें

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-