carter_1479658445

क्रिकेट का रोमांच उस वक्त अपने चरम पर पहुंच जाता है जब मैच  आखिरी ओवर तक पहुंच जाता है और जीत हार के बीच चंद गेंदों और रनों का फासला रह जाता है। इस नाजुक समय में जो टीम इस फासले को तय कर लेती है वो जीत का सिकंदर बनकर उभरती है।

ऐसा ही एक रोमांचक मैच शनिवार को वेस्टइंडीज और जिंबाब्बे के बीच खेला गया जिसमें आखिरी 6 गेंदों में जीत के लिए वेस्टइंडीज को 4 रनों की दरकार थी और उसके पांच विकेट शेष थे।

गेंद जिंबाब्वे के गेंदबाज रोनाल्ड तिरिपानो ने वेस्ट इंडीज को 4 रन नहीं बनाने दिए और तीन विकेट झटककर वेस्टइंडीज के मुंह से जीत को छीनकर टाई करवा दिया।

आखिरी ओवर में वेस्टइंडीज के एश्ले नर्स, जोनाथन कार्टर और कार्लोस ब्रेथवेट ने अपन-अपने विकेट गंवा दिए। ब्रेथवेट ने टी20 वर्ल्ड कप के आखिरी ओवर में 4 छक्के लगाकर अपनी टीम को वर्ल्ड चैम्पियन बनाया था। लेकिन वह भी इस बार असहाय नजर आए और बेहतरीन गेंदबाजी के आगे घुटने टेक दिए।

आखिरी ओवर की पहली गेंद का सामना जेसन होल्डर ने किया। उन्होंने पहली गेंद पर स्वीप शॉट खेलकर एक रन बनाया। दूसरी गेंद का सामना विस्फोटक बल्लेबाज कार्लोस ब्रेथवेट ने किया। बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में लॉन्ग ऑन पर कैच थमा दिया।

इसके बाद तीसरी गेंद का सामना कप्तान जेसन होल्डर ने किया। होल्डर ने स्ट्रेट शॉट खेला। गेंद गेंदबाज तिरिपानो की उंगलियों से टकराकर स्टंप पर जा लगी। जिससे नॉन स्ट्राइकर खड़े एश्ले नर्स रन आउट हो गए।

चौथी गेंद का सामना भी होल्डर ने ही किया। इस गेंद पर लेगबाई पर एक रन मिला। इस तरह अंतिम दो गेंदों में 2 रनों की दरकार थी।

इसके बाद पांचवीं गेंद का सामना नए बल्लेबाज जोनाथन कार्टर ने किया। उन्होंने डीप स्क्वेयर लेग पर शॉट खेलकर एक रन निकाला और स्कोर बराबरी पर आ गया।

अंतिम गेंद पर वेस्टइंडीज को जीत के लिए एक रन की जरूरत थी और स्ट्राइक पर एक बार फिर होल्डर थे। शॉट खेलने के बाद होल्डर का ध्यान गेंद किस ओर जा रही है उस तरफ लगा रहा और नॉन स्ट्राइक पर खड़े जोनाथन कार्टर रन के लिए दौड़ पड़े ऐसे में आखिरी गेंद पर रन आउट हो गए ऐसे में मुकाबला बराबरी पर समाप्त हो गया।

इससे पहले बल्लेबाजी करते हुए जिंबाब्वे की पूरी टीम 50 ओवर में 257 रन पर सिमट गई थी। शाई होप ने वेस्टइंडीज के लिए दूसरा एकदिवसीय मैच खेलते हुए 101 रन की शतकीय पारी खेली। मैच के बाद जेसन होल्‍डर ने कहा कि मैच हमारी पकड़ में था लेकिन क्रिकेट ऐसा ही है। इस तरह के मैचों से सीख लेने की जरुरत है। एक युवा टीम होने के नाते हमें यह सोचना होगा कि इस तरह की स्थितियों में क्‍या करना चाहिए।

वेस्टइंडीज को 6 गेंद में थी 4 रन की दरकार, टाई हुआ रोमांचक मैच

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-