बेंगलुरु। प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन में‍ हिस्‍सा लेने बेंगलुरु पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने संबोधन में कहा कि विदेशों में भारतीयों की सुरक्षा हमारी टॉप प्रायोरिटी है। हम पासपोर्ट का रंग नहीं खून का रिश्‍ता देखते हैं।

इस दौरान उन्‍होंने कालेधन और भ्रष्‍टाचार पर भी हमला बोला और कहा कि मैं विदेशी भारतीय समुदाय को धन्‍यवाद कहना चाहता हूं जिसने कालेधन और भ्रष्‍टाचार से लड़ने में सहयोग दिया। दुर्भाग्‍य की बात है कि कालेधन के कुछ राजनीतिक पुजारी हैं जो हमारे प्रयासों को जनता विरोधी दर्शातें हैं।

अपने संबोधन में उन्‍होंने विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज की भी तारीफ की और कहा कि वो विदेश में मुसीबत में फंसे भारतीय लोगों की मदद के लिए तेजी से काम करती हैं। इसके अलावा निर्देशित दूतावास भी विदेशों में मौजूद भारतीय समुदाय की मदद के लिए तैयार रहें।

इससे पहले प्रधानमंत्री सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यह एक ऐसा पर्व है जिसके होस्‍ट भी आप हैं और गेस्‍ट भी आप ही हैं। विदेशों में मौजूद 30 मिलियन भारतीयों को सिर्फ उनकी संख्‍या नहीं बल्कि उस देश और भारत के लिए उनके योगदान के लिए भी सम्‍मान मिलता है। भारतीय समुदाय हमारी संस्‍कृति और मूल्‍यों को सर्वश्रेष्‍ठ रूप में प्रस्‍तुत करते हैं।

पीएम ने आगे कहा कि मेरी सरकार और मेरे लिए विदेशों में मौजूद भारतीय से संपंर्क प्राथमिकताओं में है। भारत के विकास में भारतीय समुदाय का अमूल्‍य योगदान है। हम देश में ब्रेन ड्रेन की समस्‍या को ब्रेन गेन में बदलना चाहते हैं जिसमें आपका समर्थन जरूरी है। हम विदेशों में काम की तलाश कर रहे भारतीयों के लिए स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम और प्रवासी कौशल विकास योजना शुरू करेंगे।

इसस पहले प्रधानमंत्री ने 14वें प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन का उद्घाटन किया। इस सम्‍मेलन में 6 हजार से ज्‍यादा प्रवासी भारतीय हिस्‍सा ले रहे हैं।

विदेशों में भारतीयों की सुरक्षा हमारी टॉप प्रायोरिटी है: मोदी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-