मलेशिया एयरलाइन के विमान 370 का पानी के अंदर खोज मंगलवार (17 जनवरी) को बंद कर दिया गया। यह विमान 239 यात्रियों के साथ करीब तीन वर्ष पहले हिंद महासागर में लापता हो गया था जिसमें पांच भारतीय यात्री भी थे। लापता लोगों के परिजन ने इस पहल का विरोध करते हुए इसे ‘गैर जिम्मेदाराना’ बताया है। चीन, ऑस्ट्रलिया और मलेशिया के अधिकारियों की तरफ से जारी संयुक्त बयान में बताया गया, ‘उपलब्ध बेहतर विज्ञान के साथ ही अत्याधुनिक तकनीक का हरसंभव इस्तेमाल करने और निपुण पेशेवरों की सलाह के बावजूद दुर्भाग्य से विमान का पता नहीं लगाया जा सका।

तीनों देश विमान एमएच 370 का पानी के अंदर व्यापक तलाशी कर रहे थे जो आठ मार्च 2014 को कुआलालंपुर से बीजिंग जाते समय लापता हो गया जिसमें 239 यात्री सवार थे। बयान में कहा गया है, ‘एमएच370 की पानी के अंदर तलाशी रोक दी गई है। पानी के अंदर तलाशी को न तो हल्के में न ही लापरवाही के साथ किया गया।’ बोइंग 777-200 का लापता होना आधुनिक इतिहास का सबसे बड़ा वैमानिक रहस्य बन गया है। खोज में लाखों डॉलर खर्च किए गए, लाखों वर्गमील तक तलाशी की गई लेकिन अभी तक विमान के बारे में काफी कम जानकारी जुटाई जा सकी।

 

लापता विमान MH370 की खोज रोकी गई

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-