यूपी एटीएस और राजस्थान सीआईडी की टीम ने एक जॉइंट ऑपरेशन में संदिग्ध आईएसआई एजेंट जमालुद्दीन को राजधानी लखनऊ लसे मंगलवार शाम को गिरफ्तार किया। मूल रूप से गाजीपुर जिले का रहने जमालुद्दीन से फिलहाल कई सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं। पकड़े गए आईएसआई एजेंट पर आरोप है कि वह भारत में आईएसआई के लिए काम करने वालों को पैसे मुहैया करवाता था. आईएसआई जमालुद्दीन को यूएई के रास्ते यह पैसे देता थी।

राजस्थान से अरेस्ट पटवारी गोवर्धन सिंह को भी जमालुद्दीन ने पैसे पहुंचाए थे. राजस्थान क्राइम ब्रांच ने गोवर्धन को आईएसआई को आर्मी ठिकानों के नक़्शे और सूचनाएं पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया है।उससे पूछताछ में पता चला कि हवाला के रास्ते आईएसआई जमालुद्दीन को पैसा देता था जिसे वह इंडिया में सक्रिय एजेंट्स को देता था। गौरतलब है कि राजस्थान के पोखरण जिले का रहने वाला गोवर्धन सेना में काम कर चुका है। रिटायरमेंट के बाद वह पोखरण में पटवारी था. उस पर आरोप है कि उसने आईएसआई को इंडियन आर्मी के ठिकानों के कई नक्शे दिए थे। यूपी एटीएस के इनपुट पर राजस्थान पुलिस ने 27 दिसंबर 2015 को गोवर्धन सिंह को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद उसकी निशानदेही पर ही जमालुद्दीन की गिरफ्तारी हुई।

लखनऊ से संदिग्ध ISI एजेंट जमालुद्दीन गि‍रफ्तार

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-