मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को कहा कि समाज में तरह-तरह के नटवरलाल हैं। मेरिट घोटाले की पृष्ठभूमि में उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में तरह-तरह के लोग किस तरह का काम कर रहे हैं यह सामने आया।

मुख्यमंत्री ने कहा धांधली करने वाले कई लोग पकड़े भी गए। कई तरह की धांधली करते हैं लोग। इससे हताश होने की आवश्यकता नहीं है। भिड़े रहना है ऐसे लोगों के खिलाफ। सतत चलते रहना होगा। एक सरकारी आयोजन में मुख्यमंत्री ने यह बात कही। मौके पर शिक्षा मंत्री अशोक कुमार चौधरी भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोग पूरी कोशिश करते हैं लेकिन टांग खींचने वाले लोग भी होते हैं। किसी का चेहरा देखकर कोई यह कैसे जानेगा कि वह क्या है? उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने अब शिक्षा की क्वालिटी पर काम आरंभ किया है।

स्कूलों में जितने अच्छे ढंग से पढ़ाई होनी चाहिए उसका अभाव है। स्कूलों में कई तरह की सुविधाएं देनी की पहल की थी सरकार ने। इसके बाद भी उपस्थिति कम थी। इसका उपाय यह निकाला कि विद्यार्थियों को उनकी उपस्थिति के आधार पर सरकार से मिलनी वाली सुविधाएं मिलेंगी। संपूर्ण समाज को यह सोचना होगा कि इंप्रूवमेंट किस तरह से लाया जाए। उनकी सरकार ने बीएड कालेजों में सुधार पर काम शुरू किया है।

आधार कार्ड के आधार पर होगी जांच

शिक्षा मंत्री अशोक कुमार चौधरी ने कहा कि आधार कार्ड के आधार पर अब यह जांच होगी कि एक शिक्षक कितनी जगहों पर पढ़ा रहा है। बीएड कालेजों के बारे में यह जानकारी मिलती रही है कि एक शिक्षक कई कालेजों में पढ़ा रहा है।शिक्षामंत्री ने कार्यक्रम से लौटने के क्रम में संवाददाताओं से बातचीत में रविवार को ये बातें कहीं।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने उच्च शिक्षा के स्तर पर आपरेशन क्लीन अभियान पर काम शुरू किया है। पहले चरण में बीएड और उसके बाद प्लस टू एवं कोचिंग संस्थानों पर काम होगा। शिक्षा माफिया कहां-कहां सक्रिय हैं इसे देखा जा रहा है। कोचिंग नियमावली का पालन हो रहा है या नहीं यह भी सुनिश्चित करना है।

 

रिजल्‍ट घोटाले पर बोले नीतीश, समाज में तरह-तरह के नटवरलाल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-