यूपी के राज्य कर्मचारियों व पेंशनरों को असाध्य व आपातकालीन बीमारियों में कैशलेस इलाज की सुविधा एक मई से मिलनी शुरू हो जाएगी। शासन ने इसके पहले अधिकारियों को इस संबंध में जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश सरकार ने कर्मचारी संगठनों की मांग पर चुनाव से पहले राज्य कर्मचारियों व पेंशनरों को असाध्य व आपातकालीन बीमारियों में केंद्र सरकार के सेंट्रल गर्वनमेंट हेल्थ स्कीम (सीजीएचएस) की तरह अनुबंधित निजी चिकित्सालयों में कैशलेस इलाज की सुविधा देने का फैसला किया था।

इसके लिए सभी कर्मचारियों व पेंशनरों को स्टेट हेल्थ कार्ड जारी होना है और कर्मचारियों व पेंशनरों का रजिस्ट्रेशन जरूरी है।

शासन ने एक मई से इस स्कीम को लागू करने का फैसला करते हुए स्टेट हेल्थ कार्ड जारी करने और कर्मचारियों के पंजीकरण की कार्रवाई तेज करने के लिए कहा है।

शासन ने सभी मंडलायुक्तों व डीएम से कहा है कि इस काम को तेजी से समयबद्ध ढंग से कराया जाए, ताकि प्रस्तावित समय से सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकें।

राज्य कर्मियों व पेंशनरों का एक मई से कैशलेस इलाज

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-