Varun-Gandhi_

किसी भी देश की सबसे बड़ी शक्ति वहां के युवा होते हैं। विभिन्न क्षेत्रों में आरक्षण को लेकर राजनीति होती है, लेकिन राजनीति में आरक्षण पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उम्र दराज लोग राजनीति में जमे बैठे हैं। इसमें बदलाव किया जाना चाहिए। राजनीति में भी आरक्षण की शुरुआत होनी चाहिए। युवाओं को आरक्षण दिया जाना चाहिए।

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने नॉलेज पार्क के आइआइएमटी कॉलेज में हुए वार्षिक उत्सव में बतौर मुख्य अतिथि यह बात कही। कहा कि राजनीति में युवाओं के आरक्षण की बात करते ही बुजुर्ग नाराज हो जाते हैं। युवाओं को राजनीति में आरक्षण के लिए संसद में बिल लाया जाना चाहिए।

राजनीति में आरक्षण की शुरुआत ग्राम पंचायत, जिला पंचायत, बीडीसी आदि से होनी चाहिए। साथ ही युवाओं को राजनीति का प्रशिक्षण भी दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वोट मांगने के दौरान विकास की बात करने की बजाय जाति धर्म की बातें अधिक होती हैं। इसे दूर किए जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने तारीफ करते हुए कहा कि मीडिया में बहुत बड़ी शक्ति है। मीडिया की वजह से ही निर्भया को न्याय मिला। त्रयंबकेश्वर मंदिर के गर्भ गृह में पहुंचकर महिलाओं को पूजा करने का अवसर मिला। युवाओं को चाहिए कि सवाल-जवाब करें। इंग्लैंड में जो नेता एक बार चुनाव जीत जाता है, दूसरे चुनाव में उसके जीतने की संभावना 64 फीसद तक होती है। लेकिन भारत में इसका उल्टा होता है। यहां यह संभावना सिर्फ 26 फीसद तक होती है। इसका प्रमुख कारण है कि देश के नेता चुनाव जीतने के बाद अपने को राजा मानने लगते हैं।

 

राजनीति में युवाओं के लिए आरक्षण हो : वरुण

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-