ananya-your-year-application_2016825_103552_25_08_2016

लखनऊ। साढ़े चार साल की अनन्या वर्मा का नौवीं कक्षा में दाखिला फंस गया है। ऑनलाइन पंजीकरण में सॉफ्टवेयर फार्म स्वीकार नहीं कर रहा है। ऐसे में उसका पंजीकरण नहीं हो पा रहा है। यूपी बोर्ड फिलहाल अनन्या के दाखिले को रद मान रहा है क्योंकि साफ्टवेयर में कम उम्र का कोई विकल्प नहीं है।

यह लापरवाही जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय स्तर पर हुई है। गौरतलब है कि अनन्या का सेंट मीराज इंटर कॉलेज में नौंवी में दाखिला लिया गया था। डीआईओएस उमेश त्रिपाठी ने उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद को पत्र लिखकर दाखिले की सिफारिश की थी।

हालांकि, नौवीं में दाखिले के लिए ली गई टेस्ट की औपचारिकता भी अच्छे से पूरी नहीं की गई। फिलहाल अनन्या की बड़ी बहन सुषमा बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी में 16 साल की उम्र में पीएचडी कर रही है।

वहीं, उसके बड़े भाई शैलेंद्र ने लखनऊ विवि से 14 साल की उम्र में बीसीए किया था। वर्तमान में शैलेंद्र बेंगलुरु में नौकरी कर रहा है। अनन्या के पिता तेज बहादुर वर्मा ने आठवीं तक की पढ़ाई की है और वह बीबीयू में कार्यरत हैं।

वहीं अनन्या की मां छाया देवी कभी स्कूल नहीं गईं। अनन्या ढाई साल की उम्र से राम चरित मानस का पाठ कर रही है। अनन्या के दाखिले पर सवाल उठने लगे हैं और टेस्ट प्रक्रिया भी संदेह के घेरे में है।

डीआईओएस का कहना है कि सभी प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है। ऑनलाइन पंजीकरण इसलिए नहीं हो पा रहा क्योंकि सॉफ्टवेयर जन्म तिथि को स्वीकार नहीं कर रहा। अब अनन्या के दाखिले को लेकर बोर्ड से बात कर हल निकाला जाएगा।

यूपी बोर्ड के सॉफ्टवेयर ने साढ़े चार साल की अनन्या का आवेदन किया खारिज

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-