prisoners can meet their family four times in a week

जेल में कैदी अब अपने करीबी लोगों से हफ्ते में चार दिन मुलाकात कर सकेंगे। मुलाकात का समय भी दो घंटे से बढ़ाकर चार घंटे कर दिया गया है। जेल मंत्री ने 121 साल पुराने जेल मैनुअल में संशोधन कराने के साथ पैरोल में आने वाली दिक्कतें दूर कराई हैं पैरोल की अर्जी पर दो हफ्ते में डीएम-एसपी की रिपोर्ट न आने पर उनकी संस्तुति स्वत: मान ली जाएगी और कैदी को पैरोल पर भेज दिया जाएगा।

जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया ने बताया कि जेल यातना गृह नहीं, बल्कि बंदी सुधार गृह हैं। अंग्रेजों के जमाने के कानून के चलते बंदियों से मुलाकात, किसी की मौत पर उसके अंतिम संस्कार में जाने में बाधाएं व अन्य तमाम खामियां हैं। इसे दूर करने की कोशिश जारी है। इसी क्रम में कैदियों से हफ्ते में दो मुलाकात को बढ़ाकर चार दिन किया गया है और मुलाकात का समय भी दो घंटे से बढ़ाकर चार घंटे कर दिया गया है। इससे एक हफ्ते में बंदी अपने करीबियों के साथ 16 घंटे गुजार सकेगा। इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया गया है।

यूपी ने जेलमंत्री ने 121 साल पुराना मैनुअल बदलकर कैद‌ियों की दी बड़ी राहत

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-