isis_cash_destroyed

कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) को करारा झटका लगा है। अमेरिकी फौज ने इराक में आईएस के ठिकानों पर ताबड़तोड़ हमले कर 800 मिलियन डॉलर को राख कर दिया। आईएस ठिकानों पर हमले का ये वीडियो अमेरिकी सेना ने जनवरी में जारी किया था।

20 हवाई हमलों में सब कुछ तबाह

इराक में तैनात मेजर जनरल पीटर गेस्टन का कहना है कि पुख्ता जानकारी मिलने के बाद मोसुल में आईएस के कई ठिकानों पर करीब 20 बार हवाई हमले किए गए और इन हमलों में आईएस की आर्थिक रीढ़ टूट गई है। उन्होंने बताया कि कैश रिजर्व को कितना नुकसान पहुंचा है इसका सटीक आंकलन करना मुश्किल है, लेकिन आईएस को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है।

दुनिया का सबसे अमीर आतंकी संगठन आईएस

2014 में अमेरिकी रक्षा जानकारों ने कहा था कि आईएस दुनिया में संसाधनों से लैस सबसे बड़ा संगठन है। विशेषज्ञों का कहना है कि आईएस के आर्थिक स्रोतों के बारे में पुख्ता तौर पर कुछ कह पाना मुश्किल हैं। लेकिन, इराक में ऑयल फील्ड्स पर कब्जे और टैक्स की वजह से वो अपने संसाधनों को जुटाता रहा है। आईएस के पास इस समय करीब 2 बिलियन डॉलर का बजट है जो कि पिछले साल से 250 मिलियन डॉलर ज्यादा है। हालांकि अब आईएस के हाथों से कई ऑयल फील्ड्स निकल जाने के बाद आईएस को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

हमलों के बाद पड़ी कमजोर आईएस

अमेरिकी खुफिया एजेंसियों का कहना है कि आईएस लड़ाकों की सैलरी में कमी और महंगी गाड़ियों को बेचे जाने से ये बात साफ है कि वो मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं। आईएस लड़ाकों के जज्बे में कमी आई है। वो बहुत धारदार तरीके से लड़ने में नाकाम साबित हो रहे हैं। खुफिया एजेंसियों का कहना है कि पिछले साल तक आईएस के लड़ने वालों की संख्या प्रत्येक महीने 1500 से 2000 होती थी, लेकिन अब ये संख्या प्रति महीने महज 200 रह गई है। व्हाइट हाउस का कहना है कि पिछले साल आईएस के करीब 31,500 लड़ाके गठबंधन सेनाओं का सामना कर रहे थे। लेकिन अब ये संख्या घटकर महज 25000 हजार रह गई है।

 

यूएस हवाई हमले में स्वाहा हुए आईएस के 800 मिलियन डॉलर

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-