mobileapp 28 08 2016

दिल्ली विश्वविद्यालय के नियमित कॉलेजों में दाखिले से वंचित दिल्ली की छात्राओं को नॉन कोलिजिएट वूमेंस एजुकेशन बोर्ड (एनसीडब्ल्यूईबी) का विकल्प उपलब्ध है। इन छात्राओं के बीच पढ़ाई के प्रति गंभीरता लाने और अभिभावकों की छात्राओं की सुरक्षा संबंधी चिंता दूर करने के लिए एनसीडब्ल्यूईबी के श्री अरबिंदो कॉलेज ने पहल की है।

रविवार को चलने वाले इस केंद्र में दाखिला लेने वाली करीब सवा चार सौ छात्राओं की हाजिरी का ब्योरा मोबाइल ऐप पर उपलब्ध होगा, जिसे हर माह अभिभावकों को भी भेजा जाएगा। एनसीडब्ल्यूईबी के इस केंद्र के प्रभारी प्रो. हंसराज सुमन ने बताया कि छात्राओं की अध्ययन के प्रति गंभीरता और उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन की है।

कई बार छात्राएं कक्षाओं में नहीं आती हैं और आती है तो बीच में ही चली जाती हैं। कोई अनहोनी होने पर अभिभावक विश्वविद्यालय पर ही सवाल खड़े कर देते हैं। प्रो. सुमन ने कहा कि अभिभावकों की इसी चिंता और छात्राओं के भविष्य को बचाने के लिए मोबाइल ऐप बनाया गया है।

 

मोबाइल ऐप बताएगा कितने दिन क्लास में पहुंची बेटी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-