modi_waz_

मैडम तुसाद के म्यूजियम में विश्व भर की तमाम बड़ी हस्तियों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मोम का पुतला भी स्थापित हो गया है। इस म्यूजियम में चार सौ से अधिक हस्तियों के मोम के पुतले मौजूद हैं। पीएम मोदी के पुतले को ब्रिटेन के पीएम डेविड कैमरन, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, जर्मन चांसलर एंगेला मार्कल और फ्रांस्वा ओलांद के पुतलों के बीच शामिल किया गया है।

लंदन स्थित मैडम तुसाद के महाप्रबंधक एडवर्ड फुलर ने कहा, ‘‘हमें बहुत प्रसन्नता है कि श्रीमान मोदी पिछले सप्ताह भारत में इस पुतले को देख सके। हम आज लंदन के मैडम तुसाद में उनका स्वागत करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत मजेदार है कि हमारे पर्यटकों को अब इस प्रभावशाली नेता को करीब से देखने का मौका मिलेगा, जो लोक-दिलचस्पी का इतना बड़ा स्रोत हैं।’’

फुलर ने कहा, ‘‘आपको हर रोज बड़े पुरूष और महिला राजनेताओं के साथ खड़े होने का मौका नहीं मिलता है और हमारा मानना है कि अतिथि.पर्यटक श्रीमान मोदी से मिलने में खुशी महसूस करेंगे।’’पीएम के पुतले को मैडम तुसाद के सिंगापुर, हांगकांग और बैंकाक शाखाओं में भी लगाया जाएगा। कुछ दिन पहले लंदन स्थित संग्रहालय से नरेंद्र मोदी के इस पुतले को नई दिल्ली लाकर पीएम मोदी को दिखाया गया था ।

अपने इस पुतले में, पीएम मोदी अपनी जानी-पहचानी सिग्नेचर स्टाइल में क्रीम कलर का कुर्ता और जैकेट पहने पीएम मोदी खड़े होकर नमस्ते कर रहे हैं। पीएम मोदी के पुतले को चार महीने में एक लाख पचास हजार पौंड खर्च कर कलाकारों ने बनाया है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस मोम के पुतले को बनाने वाली टीम की जमकर तारीफ की है। भारत से अब तक महात्मा गांधी, इंदिरा गांधी , अमिताभ बच्चन , सचिन तेंदुलकर , शाहरुख खान ,सलमान खान, ऋतिक रोशन , माधुरी दीक्षित , ऐश्वर्या राय बच्चन , करीना कपूर और कैटरीना कैफ की मोम का पुतला पहले से ही मौजूद है। मैडम तुसाद संग्रहालय लन्दन में स्थापित मोम की मूर्तियों का संग्रहालय हैं। इसकी अन्य शाखाएं विश्व के प्रमुख शहरों मे हैं। इस संग्रहालय की स्थापना 1835 में मोम शिल्पकार मेरी तुसाद ने की थी। इन्हीं के नाम पर इस संग्रहालय का नाम मैडम तुसाद रखा गया है।

मैडम तुसाद के म्यूजियम में लगाया गया मोदी का मोम का पुतला

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-