सोमवार को शिवपाल सिंह यादव ने एक चर्चा मे बताया कि जबसे मैंने जसवंत नगर विधानसभा का चुनाव लड़ना शुरू किया है। तब से हमारी पार्टी का एक बड़ा नेता, जिसका नाम लेना मैं ठीक नहीं समझता, मुझे हराने के लिए सांप्रदायिक ताकतों और भाजपा से मिल कर मेरे खिलाफ साजिश रच रहा है। क्षेत्र में मौजूद न होने पर भी वह फोन के माध्यम से लोगों को बरगलाता है, प्रलोभन देता है। अपनी धौंस जमाता है। जिसकी वजह इस बार मैंने अपनी विधान सभा क्षेत्र मे जब तक वोटिंग नहीं पड़ जाती, तब तक जाने वाला नहीं हूं। जनता की आवाज ने जब इस पर क्लीयरफिकेशन चाहा कि कहीं वह अखिलेश तो नहीं , तब शिवपाल सिंह ने कहा कि नहीं, वह अखिलेश नहीं है। आप इस क्षेत्र के लोगों से चुनाव के कुछ दिन बाद जब चर्चा करेंगे, तो वह कौन है, आपको मालूम हो जाएगा । अभी उसके खिलाफ कोई मुंह नहीं खोलना चाहता, क्योंकि वह लोगों को नुकसान पहुंचाता रहा है और पहुंचा सकता है।

 

मेरी ही पार्टी का एक बड़ा नेता मुझे हराना चाहता है: शिवपाल सिंह यादव

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-