24_10_2016-24-10-2016

लखनऊ। जिस समय उनके परिवार में जबरदस्त उठापटक मची थी ठीक उसी समय सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह दूसरे दलों से चुनावी गठजोड़ की संभावनाएं तलाश रहे थे। आज ही उन्होंने रालोद, कौमी एकता दल और राजद मुखिया से फोन पर उत्तर प्रदेश के चुनावी परिदृश्य पर बात की। उनकी योजना इससे बिहार की तर्ज पर गठबंधन बनाने की है।

सूत्रों के अनुसार रविवार को प्रो. राम गोपाल को सपा से निष्कासित करने का जिस समय फैसला हो रहा था, उसी बीच मुलायम की राष्ट्रीय लोकदल मुखिया अजित सिंह, कांग्रेस के यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद और कौमी एकता दल के मुखिया अफजाल अंसारी, राजद मुखिया लालू यादव से बात हुई। अधिकतर नेताओं ने मुलायम के साथ होने का उन्हें भरोसा दिलाया। सूत्रों का कहना है कि मुलायम ने उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिक उभार का उल्लेख कर गठजोड़ की संभावनाओं को टटोला।

मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को पार्टी दफ्तर में एक अहम बैठक बुलाई है, जिसमें विधायक, सांसद, मंत्री, पूर्व सांसद, प्रत्याशी, ब्लाक प्रमुख और बीडीसी सदस्यों तक को बुलाया गया है। मुलायम इस मंच से जो भी कहेंगे वही पार्टी के भविष्य और चुनावी अभियान की दिशा तय करेगा। रविवार रात लगभग नौ बजे मुलायम सिंह अपने विक्रमादित्य मार्ग स्थित आवास से निकले और मीडिया कर्मियों से मुस्कराते हुए बस इतना ही कहा, ‘आप सबका धन्यवाद। अभी कुछ नहीं, कल (सोमवार) को पार्टी कार्यालय में मीटिंग है। वहीं सब कहूंगा, आप सब भी आमंत्रित हैं। मुलायम के साथ मंत्री गायत्री प्रजापति और एमएलसी आशू मलिक साथ थे।

 

मुलायम ने गठबंधन की संभावना तलाशी

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-