kanhaiya-kumar_landscape_1458792910

जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने रविवार को कहा कि मुंबई से पुणे जाने वाले एक विमान में एक सहयात्री ने उनका गला दबाने की कोशिश की। पुलिस ने बताया कि घटना के सिलसिले में एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया गया है, जिसकी पहचान मानस ज्योति डेका के तौर पर हुई है।

मुंबई पुलिस ने उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है। महाराष्ट्र सरकार ने मामले की जांच का आदेश दिया है। हालांकि, डेका ने कन्हैया के आरोपों को सस्ती लोकप्रियता पाने का हथकंडा करार दिया है।देवेन भारती ने कहा कि कन्हैया के मित्र ने जो भी आरोप लगाए हैं वो जांच में सही नहीं पाए गए हैं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में कन्हैया को सुरक्षा का हवाला देते हुए विमान से उतारा गया और सड़क मार्ग से पुणे ले जाया गया। जेएनयू परिसर में एक आयोजन को लेकर राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद सुर्खियों में आए कन्हैया ने रविवार सुबह एक ट्वीट में कहा, ‘एक बार फिर.. इस बार विमान के अंदर एक व्यक्ति ने मेरा गला दबाने की कोशिश की।

एक अन्य ट्वीट में कन्हैया ने आरोप लगाया, ‘घटना के बाद जेट एयरवेज के स्टाफ ने मुझ पर हमला करने की कोशिश करने वाले व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करने से मना कर दिया।’  जेट एयरवेज ने एक बयान में कहा कि मुंबई से पुणे जाने वाले विमान में से कुछ अतिथियों को परिचालन सुरक्षा की खातिर उतारा गया है। एयरलाइन के प्रवक्ता ने कहा कि हमारे लिए अतिथियों और चालक दल की सुरक्षा हमेशा से पहली प्राथमिकता रही है।

सरकार ने खारिज किए आरोप

महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री राम शिंदे ने कन्हैया के आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि यह प्रदेश की सरकार को बदनाम करने का प्रयास है। शिंदे ने कहा कि अपनी सीट पर जाते समय कन्हैया की अपने सहयात्री से लड़ाई हो गई। वह व्यक्ति जेएनयू छात्र नेता को जानता तक नहीं था। उसने भी कन्हैया पर अपने साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है। इसके बावजूद पुलिस को विस्तृत जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

 

मुंबई पुलिस ने विमान में कन्हैया कुमार पर हमले के आरोप को नकारा

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-