ramvriksh_yadav

मथुरा के जवाहर बाग में कथित सत्याग्रह आंदोलन को हवा देने वाला रामवृक्ष यादव गुरुवार रात मारा गया। पुलिस कार्रवाई से बचने को वह टूटी हुई बाउंड्रीवाल से निकलकर भाग रहा था, तभी जेल पुलिस के आवासों में रहने वाली महिलाओं ने उसे दबोच लिया। उसे जमकर धुना।

पिटाई के बाद वह चंगुल से निकलकर भागने लगा लेकिन रात में कहीं मरा गया, मगर इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो रही है। हालांकि डीजीपी जावीद अहमद ने यह जरूर कहकर बहुत कुछ संकेत दे दिया कि मरने वालों में रामवृक्ष हो सकता है।

गाजीपुर के रायपुर बाघपुर मठिया निवासी रामवृक्ष यादव अपने हजारों समर्थकों के साथ जवाहरबाग में दो साल से कब्जा किए था। कार्रवाई के दौरान एसपी सिटी और एसओ फरह की मौत के बाद उसे अपने मारे जाने का आभास हो गया था। ऐसे में वह सारे कागजों में आग लगाने के बाद रामवृक्ष यादव जवाहर बाग से निकलकर बाहर भागने लगा।

बताया गया है कि जेल पुलिस के आवासों में रहने वाली महिलाओं ने उसे देखा, तो दबोचकर धुनाई कर दी। इसी बीच वह किसी तरह उनके चंगुल से निकल गया। और इसके वह आग की लपटों में घिर गया इसके बाद वह कहां गया पता नहीं चली।

 

मारा जा चुका है मथुरा हिंसा का कर्ताधर्ता रामवृक्ष यादव , आधिकारिक पुष्टि नहीं

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-