haji ali 20161024 131634 24 10 2016

हाजी अली दरगाह में अब महिलाओं को भी मजार तक जाकर जियारत करने की इजाजत होगी। उनके लिए भी दरगाह के दरवाजे खुल जाएंगे। दरगाह ट्रस्ट पुरुषों के समान ही महिलाओं को भी सैयद पीर हाजी अली शाह बुखारी की मजार तक जाने की इजाजत देने को राजी हो गया है।

सोमवार को दरगाह की ओर से सुप्रीम कोर्ट को इस बात की जानकारी दी गई। दरगाह के वकील गोपाल सुब्रह्माण्यम ने कोर्ट को बताया कि इस्लाम में महिलाओं को बराबरी का हक दिया गया है। ट्रस्ट ने इस सिद्धांत को लागू करते हुए महिलाओं को भी दरगाह में प्रवेश देने का प्रस्ताव पारित किया है।

हाजी अली दरगाह ट्रस्ट का इस बात के लिए राजी होना बराबरी के हक की लड़ाई लड़ रहीं महिलाओं की बड़ी जीत है। मुंबई हाई कोर्ट ने महिलाओं को संविधान से मिले बराबरी के हक की बात करते हुए महिलाओं को भी पुरुषों के समान दरगाह में प्रवेश देने का आदेश दिया था।

दरगाह ट्रस्ट ने हाई कोर्ट के इस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। शुरुआती सुनवाई में ही सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया था कि लिंग के आधार पर महिलाओं से भेदभाव नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने दरगाह ट्रस्ट को प्रगतिशील नजरिया अपनाने की सलाह दी थी।

इस पर दरगाह ने इस मुद्दे पर योजना पेश करने के लिए दो सप्ताह का समय मांग लिया था। इसके बाद सोमवार को मामले की सुनवाई हुई। इसमें दरगाह ने महिलाओं को प्रवेश देने की योजना और प्रस्ताव कोर्ट में पेश किया।

महिलाओं के लिए खुलेंगे हाजी अली के दरवाजे

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-