मुंबई। शिवसेना ने भाजपा से दोस्ती तोड़ते हुए महानगरपालिका (मनपा) और जिला परिषद चुनावों में अकेले मैदान में उतरने का फैसला किया है। शिवसेना के इस फैसले का महाराष्ट्र ही नहीं, राष्ट्रीय सियासत पर भी व्यापक असर पड़ेगा। भाजपा से अलग होने का ऐलान करते हुए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘शिवसेना अकेले महाराष्ट्र पर भगवा लहराएगी। हम किसी के दरवाजे नहीं जाएंगे। किसी भी जिला पंचायत या मनपा चुनाव में अब शिवसेना गठबंधन नहीं करेगी। सभी चुनाव अकेले लड़ेगी। भाजपा हमें 114 सीटें देने की बात कर रही है। क्या यह शिवसेना का अपमान नहीं है? शिवसेना की ताकत उससे कम है क्या? शिवसेना के 50 वर्ष के कार्यकाल में 25 वर्ष गठबंधन के कारण बरबाद हो गए। लेकिन हिंदुत्व और देश के लिए शिवसेना ने भाजपा साथ दिया। अब शिवसेना किसी के सामने नहीं झुकेगी।’

शिवसेना के इस फैसले के बाद मुख्यमंत्री देंवेंद्र फडणवीस ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, कुछ लोग हमारा साथ नहीं देना चाहते हैं, लेकिन उनके बिना परिवर्तन होने वाला है। इसलिए कोई हमारे साथ है तो अच्छा है। बिना साथ के भी परिवर्तन होना ही है।

महाराष्ट्र: BJP-शिवसेना की दोस्ती टूटी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-