मुंबई। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) चुनावों को लेकर भाजपा और शिवसेना में तनाव चरम पर पहुंच गया है। दोनों दलों के बीच तनातनी का आलम यह है कि फड़नवीस सरकार में शामिल शिवसेना के सभी मंत्री इस्तीफा देने के लिए उद्धव ठाकरे के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं।

पार्टी प्रवक्ता मनीषा कायंदे ने कहा, “शिवसेना राज्य में मध्यावधि चुनाव के लिए तैयार है। हम मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की कार्यप्रणाली से नाखुश हैं।” उनका कहना था, “केवल शिवसेना ही नहीं बल्कि आम आदमी भी भाजपा और फड़नवीस सरकार के कामकाज से नाराज है। लोग इस सरकार से छुटकारा पाने के लिए मध्यावधि चुनाव चाहते हैं। सेना भी इसके लिए पूरी तरह से तैयार है।”

प्रवक्ता ने आगे कहा, “बीएमसी के बहाने सीएम हम पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। अगर देवेंद्र फड़नवीस व भाजपा को हमसे इतनी ही नाराजगी है तो हमारे साथ केंद्र और राज्य सरकार में भागीदारी क्यों कर रहे हैं?”

शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा है। कहा, “पीएम दूसरों के बाथरूम में झांकना छोड़कर सुशासन पर ध्यान दें। पद की गरिमा का ख्याल रखते हुए विपक्ष पर हमला करें।”

महानगरपालिका चुनावों को लेकर भाजपा और शिवसेना में तनाव चरम पर पंहुचा

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-