masood-account-freeze_25_10_2016

इस्लामाबाद। आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर अमेरिका की लताड़ मिलने के अगले ही दिन पाकिस्तान हरकत में आ गया। उसने सोमवार को जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर सहित 5,100 से अधिक संदिग्ध आतंकियों के बैंक खाते जब्त कर दिए। इन खातों में 40 करोड़ रुपये से अधिक की राशि है।

पठानकोट एयरबेस के हमले का दोषी मसूद अजहर पाकिस्तानी सुरक्षा बलों की देखरेख में है। स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “आंतरिक मंत्रालय के अनुरोध के बाद हमने मसूद अजहर, उसके बेटे अल्लाह बक्श सहित सभी शीर्ष संदिग्ध आतंकियों के खाते सीज किए हैं।”

अधिकारी के हवाले से समाचार पत्र “द न्यूज” ने लिखा कि आंतरिक मंत्रालय ने कुछ प्रतिबंधित संगठनों के सरगना सहित हजारों संदिग्धों की तीन अलग-अलग सूचियां भेजी हैं। एसबीपी ने जिन 1,200 खातों को जब्त किया है, वे आतंकवाद रोधी अधिनियम, 1997 की श्रेणी “ए” में सूचीबद्ध किए गए लोगों के हैं। मसूद का नाम भी इसमें शामिल है।

एसबीपी और आंतरिक मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि माह की शुरुआत में आतंकवाद से मुकाबले के लिए गठित राष्ट्रीय प्राधिकरण, नेशनल काउंटर टेररिज्म अथॉरिटी (नक्टा) ने बैंक को करीब 5,500 नामों की सूची भेजी थी। नक्टा के राष्ट्रीय संयोजक एहसान गनी ने एसबीपी द्वारा पांच हजार से अधिक बैंक खातों को सीज करने की पुष्टि की है।

द न्यूज ने लिखा, इस्लामाबाद की लाल मस्जिद के मौलाना अजीज, अहले सुन्नत वल जमात के नेताओं मौलवी अहमद लुधियानवी व औरंगजेब फारूकी, अलकायदा के मैतुर रहमान, तहरीक-ए-तालिबान के मंसूर उर्फ इब्राहिम और लश्कर-ए-झांगवी के कारी एहसान उर्फ उस्ताद हुजाफिया तथा रमजान मेंगल जैसे अन्य संदिग्धों के खाते भी सीज हुए हैं।

 

मसूद सहित 5,100 आतंकियों के खाते जब्त

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-