akhlaq_1464835694

बिसाहड़ा में इकलाख के घर मिले मांस की जांच करने वाली मथुरा वेटरनेरी विवि की फोरेंसिक लैब में इस समय बीस से भी ज्यादा सैंपल की जांच की जा रही है। संबंधित जिलों से इनके बारे में पूछा भी जा रहा है।

कुछ मामलों की जांच रिपोर्ट तो लिफाफे में बंद है। माना जा रहा है कि इनका खुलासा सियासत और तनाव की वजह बन सकता है।

दादरी के बिसाहाड़ा गांव में इकलाख के घर से बरामद मांस बीफ होने की पुष्टि के बाद प्रदेश की सियासत गरमाने लगी है। कई संगठन और पार्टियां इसे मुद्दा बनाकर बड़े आंदोलन की तैयारी में हैं।

मथुरा वेटरनेरी विश्वविद्यालय की फोरेंसिक लैब में इस तरह के मामलों जांच चल रही है।  बीस सैंपल तो वह हैं जिनकी रिपोर्ट को लेकर संबंधित जिलों से लगातार पूछा जा रहा है, वहां भी घटना तनाव की वजह बनी थी।

विवाद बढ़ने पर प्रशासन ने जांच के लिए सैंपल फोरेंसिक लैब मथुरा को भिजवाए। इनमें पूर्वांचल के सात जिलों से सैंपल आए है, अन्य पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हैं। इनमें से कई मामले तो काफी चर्चित भी हैं।

जब भी इन सैंपल की रिपोर्ट संबंधित जनपदों में पहुंचेगी तो हंगामा होना तय माना जा रहा है। प्रयोगशाला के अफसरों का कहना है कि क्रमवार  सभी सैंपलों की जांच करने के बाद रिपोर्ट भेजी जा रही है।

लैब में बढ़ी नमूनों की संख्या
इस फारेंसिक लैंब में अचानक सैंपल की संख्या बढ़ गई है। नाम न छापने की शर्त पर यहां के अफसरों का कहना है कि अब तो चार से पांच सैंपल हर रोज आ रहे हैं। जबकि पहले एक माह में दो या तीन ही सैंपल आया करते थे।

जो भी नमूने आ रहे हैं उनमें यही पूछा जा रहा है कि मांस बीफ का है या फिर कोई दूसरा। कुछ जनपदों से कानून व्यवस्था का हवाला देकर रिपोर्ट जल्द देने का भी आग्रह किया जा रहा है।

मथुरा लैब में अभी कई और सैंपल, गर्माएगी यूपी की सियासत

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-