कोलकाता। भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा वनडे आज कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स स्टेडियम पर खेला जाएगा। टीम इंडिया इस मैच से जून में अंग्रेजों के ही देश में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी के लिए अपना अंतिम तौर पर आंकलन भी कर लेना चाहेगी क्योंकि चैंपियंस ट्रॉफी से पहले उसे और कोई वन-डे नहीं खेलना है। दूसरी ओर वन-डे सीरीज गंवाने के बावजूद इंग्लिश टीम कमतर नजर नहीं आ रही है। पुणे और कटक के मैच काफी नजदीकी रहे थे। इंग्लैंड जीत के साथ ससम्मान इस सीरीज को अलविदा कहना चाहेगी।

ईडन में अब तक इंग्लैंड ने एक भी वनडे मैच नहीं जीत पाया है। यहां खेले तीन वनडे मैचों में इंग्लैंड को हर बार हार का मुंह देखना पड़ा है।

टीम के तौर पर तुलना करें तो भारत और इंग्लैंड की मौजूदा टीमों में समान मजबूती और कमजोरियां नजर आ रही हैं। दोनों के बल्लेबाज गरजे हैं तो गेंदबाजों ने रन लुटाए हैं।

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पर तो सबकी निगाहें होंगी ही। वैसे भी एक मैच में विफल रहने पर उनसे अगले मैच में उम्मीदें कई गुना बढ़ जाती हैं। भारतीय मध्यक्रम का इस समय कोई जोड़ नहीं है। कटक में वनडे करियर की सर्वोच्च पारी खेलने वाले युवराज सिंह और कप्तानी छोड़ने के बाद बेफिक्र हो चुके धोनी के बल्ले के जोरदार तरीके से गरजने से मेहमान खेमा खासा चिंतित है। पुणे वनडे के हीरो केदार जादव से भी काफी उम्मीदें हैं। निचले क्रम में हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन भारतीय बल्लेबाजी को और मजबूत करते हैं।

वैसे अंग्रेज बल्लेबाज भी लय में नजर आ रहे हैं। कप्तान इयोन मॉर्गन मध्य क्रम की रीढ़ हैं। कटक में रनों के पहाड़ का पीछा करते हुए 102 रन की उनकी साहसिक पारी यह बयां कर देती है। जो रूट का पिछले मैच में पचासा टीम के लिए अच्छी खबर है।

दोनों टीमों को गेंदबाजी ही ज्यादा परेशान कर रही है। पुणे में 350 रन बनाने के बावजूद इंग्लिश गेंदबाज उसकी रक्षा नहीं कर पाए, वहीं कटक में भारत द्वारा उससे भी ज्यादा 381 रन का लक्ष्य देने पर भी इंग्लैंड जीत के काफी करीब पहुंच गई थी।

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा वनडे आज

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-