th

अमेरिका के भावी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनके भारतीय कारोबारी साझेदारों के बीच मुलाकात पर शीर्ष अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने तीखे सवाल दागे हैं। ये रियल एस्टेट भारतीय कारोबारी दक्षिणी मुंबई में ट्रंप ब्रांड के लक्जरी अपार्टमेंट बना रहे हैं। अखबार ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप अपने पद का इस्तेमाल अपने कारोबारी हित को बढ़ावा देने के लिए कर सकते हैं। हालांकि ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन की प्रवक्ता ब्रीन्ना बुटलर ने डोनाल्ड ट्रंप की भारतीय कारोबारियों के साथ मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया है।

बुटलर ने कहा कि पिछले हफ्ते भारतीय रियल एस्टेट कारोबारी सागर चोर्डिया, अतुल चोर्डिया और कल्पेश मेहता ने ट्रंप को अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जीत की बधाई देने के लिए भारत से अमेरिका पहुंचे। इन्होंने ट्रंप टावर पहुंचकर डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। ट्विटर में पोस्ट की गई तस्वीर में ट्रंप के साथ ये कारोबारी मुस्कुराते हुए नजर आ रहे हैं। सागर चोर्डिया ने ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप और बेटे एरिक ट्रंप से मुलाकात की तस्वीर को भी फेसबुक पर पोस्ट किया। ट्रंप की बेटी और बेटे कारोबार में सहयोग करने के साथ ही ट्रंप ट्रांजिशन टीम में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने कहा कि भारतीय अखबारों ने इन कारोबारियों के हवाले से बताया कि ट्रंप से उनकी मुलाकात के दौरान ट्रंप ऑर्गेनाइजेशन के साथ साझेदारी को बढ़ाने को लेकर चर्चा हुई। अमेरिकी अखबार ने सवाल दागा है कि आखिरकार ट्रंप अपने पद और कारोबार को अलग कैसे कर रख पाएंगे। वह अमेरिकी राष्ट्रपति पद का इस्तेमाल अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। वहीं, ट्रंप चुनाव के दरम्यान से ही न्यूयॉर्क टाइम्स पर अपने खिलाफ खबरें चलाने का आरोप लगाते आ रहे हैं। वह इस अखबार को अपना विरोधी मानते हैं।

भारतीय कारोबारियों से मिले ट्रंप तो न्यूयॉर्क टाइम्स ने उठाए सवाल

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-