demo-pic_1465365301

मध्य प्रदेश में खांडवा जिले के गांव पिपलियातहर में 22 वर्षीय बेटी ने अपने पिता की प्रेमिका का कत्ल कर दिया। बेटी ने इस काम में अपने तीन नाबालिग भाइयों को भी साथ लिया था।

पुलिस ने घटना की जानकारी मिलने पर 45 वर्षीय महिला की हत्या में चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपी बेटी ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं।

घटना चार जून की है। 45 वर्षीय महिला निर्मला का शव रंजित अवस्‍था में ग्रामीणों को एक खेत में पड़ा मिला। गांव वालों ने उसे फौरन नजदीक के अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। महिला के पीट और टांगों में गंभीर चोटों के निशान थे। महिला के शव को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि उस पर किसी गैर धारदार हथियार से हमला किया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, मामले की जांच कर रही पुलिस टीम ने बताया कि महिला निर्मला का शव अशोक मालकर नाम के शख्स के खेत में मिला। लेकिन जांच आगे बढ़ी तो पता चला कि महिला निर्मला अशोक मालकर के खेतों में मजदूरी किया करती थी।

अशोक का पिछले कई सालों से निर्मला बाई से प्रेम संबंध था जिसके कारण से उसकी पत्नी अपने मायके में जाकर रहने लगी थी। इससे घर की स्थित खराब हो गई। अशोक की बेटी रक्षा (22) और बेटा विकास (17) परेशान रहने लगे। लेकिन फरवरी महीने से घर की स्थित तब और खराब हो गई जब अशोक ने निर्मला का कर्ज चुकाने के लिए अपनी पत्नी मंजू के गहने भी गिरवी रख दिए।

बेटी रक्षा ने बताया कि पिता की इसी चाल के कारण उसकी मां मंजू घर छोड़कर चली गई थी। इस समस्या से निपटने के लिए बेटी रक्षा ने पिता की प्रेमिका निर्मला को सबक सिखाने की ठानी। रक्षा की इसी साल फरवरी में शादी हुई थी।

रक्षा ने अपने छोटे भाई विकास 13-14 साल की उम्र के दो चचेरे भाइयों को अपने साथ लिया और क्रिकेट के बल्ले व खेत में लगे गन्ने से निर्मला की जमकर धुनाई कर दी। चोंटें गंभीर होने से और समय पर अस्पताल न पहुंचने से निर्मला की मौत हो गई।

हांलांकि आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि उनका इरादा निर्मला को जान से मारने का नहीं था। वह तो सिर्फ उसे सबक सिखाना चाहते थे।

भाइयों को साथ ले बेटी ने किया पिता की प्रेमिका का कत्ल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-