ब्रिटेन यूरोपीय यूनियन यानी ईयू में रहे या न रहे इसे लेकर ब्रिटेन की जनता ने अपना फैसला सुना दिया है। देश के एतिहासिक रेफरेंडम के नतीजे आ चुके हैं और इसके अनुसार 51.8 प्रतिशत लोगों ने ईयू से बाहर होने के लिए मतदान किया है। इसके बाद अब ब्रिटेन पहला देश होगा जो ईयू से बाहर हो जाएगा।

हालांकि अंतिम नीतजों से पहले ही यह साफ हो गया था कि ब्रिटेन के दिल में क्‍या है और इसी के चलते दुनियाभर के बाजारों में हाहाकार मच गया। जापान के निक्की स्टॉक के सूचकांक में 8 फीसद से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं, भारतीय और एशियाई बाजारों पर नजर आ रहा है। शुक्रवार को बाजार गिरावट के साथ खुला और कुछ ही देर में तहलका मच गया। खुलने के कुछ देर बाद ही सेंसेक्‍स में जहां 1000 अंकों की गिरावट नजर आई वहीं निफ्टी भी 300 अंक गिर गया।

हालांकि शुरुआती खबरों में पता चला कि लोग बड़ी संख्या में वोट डालने के लिए मतदान केंद्रों पर पहुंचे और मतदान का प्रतिशत काफी ऊंचा रहा। साथ ही साथ विदेशी मुद्रा बाजार में यूरो की कीमत तेजी से चढ़ी तो दूसरी तरफ पाउंड भी इस साल के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया।

ब्रिटेन का एतिहासिक फैसला, EU से बाहर होने को मिले 51.8 प्रतिशत वोट

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-