bonus1_27_10_2016

जयपुर। राजस्थान की सरकारी बिजली कम्पनियों ने अपने कर्मचारियों को अजीब मुश्किल में डाल दिया है। कम्पनियों ने कर्मचारियों के लिए बोनस और एक्सग्रेशिया की घोषणा तो कर दी, लेकिन साथ ही यह अपील भी कर दी कि कम्पनियों की आर्थिक स्थिति खराब है, इसलिए कोई बोनस और एक्सग्रेशिया नहीं लेना चाहे तो उसका स्वागत है।

बिजली कम्पनियों के 19,600 कर्मचारी बोनस के लिए पात्र है। इससे बिजली कम्पनियों पर करीब 14 करोड़ रूपए का भार आएगा। बिजली कम्पनियों पर करीब 60 हजार करोड़ रूपए का कर्ज है और हाल में सरकार ने कम्पनियों को घाटे और कर्ज से उबारने के लिए बिजली के दाम बढ़ाए है।

कम्पनियों की आर्थिक हालत खराब होने के बावजूद कर्मचारियों के लिए बोनस घोषित कर दिया। अब कम्पनियों की अपील से कर्मचारी असमंजस में हैं।

बोनस तो दिया, लेकिन वापस करने की अपील भी कर दी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-