भोपाल। बलराम आईएसआई नेटवर्क से जुड़ने के आरोप में गिरफ्तार सतना का मददगारों को पैसा पहुंचाने के जनधन खातों का भी इस्तेमाल करता था। एटीएस की पूछताछ में इस काम में उसकी मदद करने वाले उसके दोस्त रज्जन ऊर्फ राजीव तिवारी को एटीएस जल्द हिरासत में लेगी। रज्जन गांजा तस्करी के मामले में मैहर जेल में बंद है। इसे लेने भोपाल एटीएस की टीम जल्द मैहर पहुंचेगी।

कुख्यात गांजा तस्कर अनूप जायसवाल उर्फ जस्सा के लिए काम करने वाला रज्जन आईएसआई के लिए भी काम कर रहा था। सूत्रों की मानें तो सतना से बलराम व उससे जुड़े करीब आधा दर्जन लोगों को एटीएस अपने हिरासत में लेकर पूछताछ करने के लिए भोपाल लाने वाली है।

बलराम के साथ काम करने वाला रज्जन पैसे जमा करने के लिए ग्रामीणों के बैंक खाते खुलवाता था। बताया जा रहा है कि जनधन खातों में भी उसने कई ग्रामीणों के खाते खुलवाए और उनकी पासबुक और एटीएम खुद रख लिए। इसके बदले खाताधारकों को कुछ रुपए भी देता था। इन खातों में आने वाले पैसों को पाकिस्तानी हैंडलर्स के कहने पर या ऑनलाइन या सीधे संबंधित व्यक्ति तक पहुंचाने की बात सामने आई है।

 

बलराम मददगारों को पैसा पहुंचाने के जनधन खातों का भी इस्तेमाल करता

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-