वित्त मंत्री अरुण जेटली पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा यहां आयोजित तीसरे बंगाल वैश्विक व्यावसायिक शिखर सम्मेलनके उद्घाटन में शामिल नहीं हुए। उनकी अनुपस्थिति को पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच वर्तमान राजनीतिक संबंधों के संदर्भ में देखा जा रहा है जो बहुत ठीक नहीं दिख रहा है। कार्यक्रम के अनुसार जेटली को इसमें शामिल होना था लेकिन उनकी कमी खली।

पश्चिम बंगाल और केंद्र सरकार के सबंध हाल के दौर में कुछ अधिक बिगड़ गए हैं। खासकर पश्चिम बंगाल में सत्तारूढञ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के दो सांसदों तपस पाल और सुदीप बंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद दोनों पक्षों में तल्खी बढ़ गयी है। केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने दोनों को रोज वैली निवेश घोटाले की जांच के सिलसिले में पकड़ा है। उसके बाद राज्य सरकार ने भारतीय जनता पार्टी की राज्य इकाई के नेता जयप्रकाश मजूमदार को रिश्वत के एक कथित मामले में गिरफ्तार कर लिया।

पश्चिम बंगाल वैश्विक व्यावसायिक सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राज्य सरकार में वित्त मंत्री अमित मित्रा उपस्थित थे। उद्योग जगत से जानेमाने उद्योगपति संजीव गोयनका, सज्जन जिंदल, किशोर बियानी आदि कई हस्तियां सम्मेलन में भाग ले रही हैं। दो दिन के इस सम्मलन में 27 से अधिक देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। विदेशी प्रतिनिधियों की भागीदारी 3,000 के करीब बतायी जा रही है।

बंगाल वैश्विक निवेश सम्मेलन में नहीं आए जेटली

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-