child-rape_1461764569

फेसबुक पर पोस्ट की गई 18 साल की एक जवान महिला की तस्वीर के नीचे  एक कैप्शन लिखा है ‘शी इज फॉर सैल’ यानी महिला बिक्री के लिए है। फेसबुक पोस्ट में महिला को बेचने के लिए 8,000 डॉलर की कीमत लगाई गई है। यह पोस्ट इस्लामिक स्टेट के आतंकी अबू असद अंसारी ने की है, इस पोस्ट के बाद आतंकी ने एक और महिला की फोटो पोस्ट की।

फेसबुक ने दोनों महिलाओं की फोटो को थोड़ी देर बाद हटा दिया। विशेषज्ञ कह रहे हैं कि आईएसआईएस के आतंकी द्वारा महिलाओं को सेक्स स्लेव के तौर पर खरीदने और बेचने की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। आईएसआईएस पर इराक और सीरिया में बढ़ते दबाव के कारण बंदी बनाई गई इन महिलाओं को भी जूझना पड़ रहा है।

इस्लामिक स्टेट के आतंकी सेक्स के लिए बंदी बनाई गईं महिलाओं को सोशल साइट्स के जरिए बेच रहे हैं। साथ ही सेक्स स्लेव महिलाओं से मारपीट भी कर रहे हैं। फेसबुक ने जब से फोटो डिलीट की है उसके बाद से आईएसआईएस के आतंकियों ने कोई फोटो पोस्ट नहीं की है।

महिलाओं को सेक्स स्लेव के तौर पर बेचने की घटना के पूर्व भी आईएसआईएस के आतंकी काफी समय से सोशल मीडिया का उपयोग दुष्प्रचार करने के लिए कर रहे हैं, और सोशल मीडिया पर आतंक की गतिविधियों की दिल देहला देने वाली वीडियों पोस्ट कर दहशत का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

फेसबुक पर बंदी महिलाओं को बेच रहा है आईएसआईएस

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-