bus_20161027_135455_27_10_2016

बेंगलुरु। स्टील फ्लाई ओवर परियोजना की घोषणा कर आलोचला का सामना कर रही कर्नाटक सरकार ने एक नया विवाद शुरू कर दिया है। बेंगलुरु महानगर परिवहन निगम द्वारा 2.7 करोड़ रुपये प्रति वाहन की लागत से 150 बिजली बसों की खरीद के प्रस्ताव से हर कोई दंग रह गया है। सोमवार को बीएमटीसी के बॉर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने प्रायोगिक आधार पर 150 बिजली बसों की खरीद के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई है।

वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि मौजूदा समय में इस तरह की बसों की कीमत 1.5 करोड़ रुपये से अधिक नहीं है। यह कीमत बाजार रेट से काफी ज्यादा बताई जा रही है। हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर बीएमटीसी ने इन बसों की कीमत की घोषणा नहीं की है, निगम के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एक बस की कीमत 2.7 करोड़ बताई जा रही है। आपको बता दें कि पर्यावरण संरक्षण की चिंताओं और जीवाश्म ईंधन की बचत के रूप फरवरी 2014 में बिजली की बसों को लाने की योजना बनाई थी

परिवहन विशेषज्ञ एम.एन. श्रीहरि के मुताबिक सरकार निर्माताओं से बातचीत कर बहुत सस्ती दर इन बसों को ले सकती हैं। सरकार कीमत पर निर्माताओं के साथ बातचीत और वाहनों की अनुकूलित विनिर्देश पर उनका मार्गदर्शन कर इन बसों को 1 करोड़ रुपये की दर से खरीद सकती हैं।

फिर घिरी कर्नाटक सरकार

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-