yogeshwar_28_28_10_2016

नई दिल्ली। सुशील कुमार की प्रो-रेसलिंग लीग के दूसरे संस्करण में हिस्सा लेने की संभावना लगभग नहीं के बराबर है, जबकि एक अन्य भारतीय स्टार पहलवान योगेश्वर दत्त भी इस प्रतियोगिता से हट सकते हैं जिससे टूर्नामेंट की चमक फीकी हो जाएगी। यह लीग देश के आठ शहरों में 15 दिसंबर से शुरू हो रही है जो 31 दिन चलेगी।

पिछले साल हरियाणा फ्रेंचाइजी का प्रतिनिधित्व करने वाले लंदन ओलिंपिक के कांस्य पदक विजेता योगेश्वर संभवत: इस लीग का हिस्सा नहीं होंगे, क्योंकि अगले साल जनवरी में उनकी शादी होनी है। योगेश्वर ने कहा, ‘मेरे लिए पीडब्ल्यूएल का हिस्सा बनना काफी मुश्किल होगा, क्योंकि लीग दिसंबर में होगी और मेरी शादी जनवरी में है। हालांकि अब भी मैं पूरी तरह से बाहर नहीं हुआ हूं, लेकिन इसकी संभावना कम लगती है।’

पहले सत्र में 33 साल के योगेश्वर चोटिल होने के कारण टूर्नामेंट के बीच से हट गए थे, लेकिन उन्होंने शुरुआती राउंड में अच्छे प्रदर्शन से टीम का फाइनल में प्रवेश सुनिश्चित किया जहां उन्हें मुंबई के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा। भारत के दोहरे ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार पेशेवर कुश्ती में जगह बनाने के लक्ष्य के साथ डब्ल्यूडब्ल्यूई और दुनिया की अन्य पेशेवर लीग के शीर्ष अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। सुशील ने पीडब्ल्यूएल में हिस्सा लेने की संभावना खारिज नहीं की है, लेकिन वे एमेच्योर वर्ग को अलविदा कहने की दहलीज पर हैं और इसलिए पीडब्ल्यूएल दो में उनके हिस्सा लेने की संभावना लगभग नहीं के बराबर है।

नरसिंह यादव भी चार साल के डोपिंग प्रतिबंध के कारण प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। वहीं, तीन बार की विश्व चैंपियन अमेरिका की एडलाइन ग्रे, रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता अजरबैजान की मारिया स्टैडनिक और इन्हीं खेलों की कांस्य पदक विजेता स्वीडन की सोफिया मैटसन मुख्य आकर्षण रहेंगी। एडलाइन ग्रे पिछले सत्र में मुंबई गरुड़ की ओर से खेली थीं। इसके अलावा साक्षी मलिक सहित सत्यव्रत कादियान, संदीप तोमर, बजरंग, अमित आदि पहलवान इस लीग के लिए उपलब्ध रहेंगे।

 

प्रो-रेसलिंग लीग में योगेश्वर दत्त के भाग लेने की उम्मीद लगभग खत्म

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-