cm_sister_2016819_9221_19_08_2016

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को राखी बांधने की मंशा से गुरुवार को सीएम हाउस पहुंची बचेली की एक महिला को मायूस होना पड़ा। जनदर्शन स्थगित होने के कारण मुलाकात नहीं हो सकी। इस दुखियारी को शादी के सात महीने बाद ही पति ने घर से भगा दिया। भाई मारपीट करता है। वह चाहती थी कि सीएम को राखी बांध, फोटो खिंचवाती फिर पति और भाई को दिखा कर कहती कि उन्हें भले ही मेरी परवाह न हो पर डॉ. रमन मेरे भाई हैं, वे मेरी रक्षा करेंगे। सीएम से मिलने की जिद पर अड़ी महिला समझाने-बुझाने पर नहीं मानी तो हिरासत में लेकर पुलिस ने बचेली भेज दिया।

दंतेवाड़ा के बचेली, पुराना बाजार की रीता शाह (40) के सिर से दस साल पहले माता-पिता का साया उठने के बाद पति ने भी दर-दर की ठोकरें खाने को विवश कर दिया। किरंदुल में ब्याही गई रीता को पति सुकुमार सरकार ने बिना तलाक दिए घर से निकाल दिया, तब वह बचेली में रह रहे सगे भाई अशोक शाह के पास पहुंची। अशोक ने रीता को पारिवारिक संपत्ति में हिस्सा न देना पड़े, यह सोच प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

तंग आकर रीता ने आखिरकार घर छोड़ने का फैसला कर लिया और सीधे मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को राखी बांधने पहुंच गई। रीता ने नईदुनिया को आपबीती सुनाई। तीन भाइयों की वह इकलौती बहन थी। बड़ा भाई श्यामरतन कोलकाता में बस चुका है। मंझला भाई गोपाल शाह बैंक कर्मचारी थे, जिनकी कैंसर से मौत हो गई। यही भाई उसका ज्यादा ख्याल रखते थे। छोटे भाई अशोक के आसरे वह अपनी नई जिंदगी शुरू करना चाहती थी, लेकिन वह मारपीट करने लगा। रीता का कहना है कि वह सीएम को राखी बांध उनके साथ फोटो खिंचवाने की मंशा से पहुंची थी, लेकिन निराशा हाथ लगी।

प्रताड़ित… सीएम को राखी बांधने आई बहन

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-