201502191818090450478001424350089

बालासोर। भारत ने ओडिशा में सोमवार को देश में निर्मित ‘पृथ्वी-II’ मिसाइल का सफल किया। इस मिसाइल को साल 2003 में भारतीय सेना में शामिल किया गया था।

ओडिशा स्थित बालासोर जिले के चांदीपुर में पृथ्वी II मिसाइल का सफल प्रक्षेपण हुआ। देश में बनाई गई यह मिसाइल 500 से 1000 किलोग्राम तक का भार उठाने में सक्षम है। प्राप्त खबर के अनुसार मिसाइल को सुबह 9.35 बजे एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के प्रक्षेपण परिसर-3 से एक मोबाइल लॉन्चर से प्रक्षेपित किया गया।

सतह से सतह पर 350 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली पृथ्वी मिसाइल दो लिक्विड प्रपल्शन इंजन से चलती है। यह पहली मिसाइल है जिसे डीआरडीओ ने ‘इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलेपमेंट प्रोग्राम’ के तहत तैयार किया था।

पृथ्वी-II लिक्विड और सॉलिड, दोनों तरह के ईंधन से चलती है। यह परंपरागत और परमाणु, दोनों तरह के हथि‍यार ढोने में सक्षम है।

इससे पहले पृथ्वी-II का सफल परीक्षण 16 फरवरी 2016 और 14 नवंबर 2014 को किया गया था।

यह मिसाइल 483 सेकेंड तक और 43.5 किमी की ऊंचाई तक उड़ान भर सकती है।

पृथ्वी II मिसाइल का प्रायोगिक प्रक्षेपण हुआ सफल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-