station_

आपने चोरी की घटना तो खूब सुनी होंगी। पर आज हम आपको बता रहे एक ऐसी चोरी के बारे में, जिसमें चोरों ने पूरा रेलवे स्टेशन ही चुरा लिया। धनबाद-झरिया-सिंदरी रेलरूट पर आने वाले कई स्टेशनों पर चोरों ने रेल का ट्रैक उखाड़ कर बेच दिया तो कई जगहों पर पक्के मकान बना लिए। रेलवे के अॉफिस में पोल्ट्री फार्म खोल लिए गए तो कहीं ट्रैक पर ही खेती शुरू कर दी गई। देखते ही देखते पूरा स्टेशन ही गायब कर दिया गया।
धनबाद-झरिया-सिंदरी रेलरूट पर कभी सैकड़ों ट्रेनें चलती थीं। लेकिन दस साल पहले अग्नि प्रभावित क्षेत्र होने का हवाला देकर इन रेलरूट को बंद कर दिया गया। इसके बाद इस रेल रूट पर आने वाले कई स्टेशनों पर लूट मच गई। इसकी परवाह ना तो रेलवे के अधिकारियों ने की और ना ही सुरक्षा के लिए जवाबदेह एजेंसी ने। देखते ही देखते धनसार, झरिया सहित कई रेलवे स्टेशन का नामों निशान गायब कर दिया गया। करोड़ों रुपए की संपत्ति सुनियोजित तरीके से गायब कर दी गई। कई स्थानों पर तो ट्रैक के किनारे लगे खंभे, फाटक, सिग्नल लाइटें समेत कई महंगे उपकरण और कीमती पार्ट्स को भी लोगों ने बेच दिया।
झरिया स्टेशन तो बंद होने के साथ ही उजड़ गया था। लेकिन स्टेशन पर फुटओवर ब्रिज, यात्री शेड, रेलवे ट्रैक जैसे कई पुराने अवशेष बचे हुए थे।  लेकिन कुछ ही दिनों में लोगों ने स्टेशन परिसर में सुरक्षा की कमी का फायदा उठाते हुए सारे सामान गायब कर दिए। एक अनुमान के मुताबिक स्टेशन पर लोहे के सामान की वर्तमान कीमत अनुमानत: 50 करोड़ से अधिक की थी। वर्तमान में स्टेशन परिसर खंडहर में तब्दील हो गया है।

पूरा रेलवे स्टेशन हो गया चोरी, रेलवे के ऑफिस में चल रहा है पोल्ट्री फार्म

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-