pm modi move increased the challenge of banks

पांच सौ और हजार रुपये के बड़े नोटों को बंद करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले ने बैंकों के सामने चुनौती बढ़ा दी है। बैंकों के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती बाजार में छोटे नोटों का परिचालन सामान्य बनाए रखने की है। तो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की प्रिंटिंग प्रेस के सामने भी छोटे नोटों को छापने की चुनौती बनी रहेगी।

हालांकि रिजर्व बैंक ने 2000 और 500 के नए नोट को अपने क्षेत्रीय केंद्रों पर पहुंचाना शुरू कर दिया है। सूत्र बताते हैं कि पीएम के फैसले को सफल बनाने के लिए देर रात आरबीआई ने अपने क्षेत्रीय केंद्रों पर नए नोट पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है।

लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा समस्या हो सकती है। ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों की पहुंच अब भी कम है। देश की 60 प्रतिशत आबादी अब भी कैश के जरिए अपना काम चलाती है। इसमें ग्रामीण इलाकों में रहने वालों की संख्या ज्यादा है। लेकिन तमाम आर्थिक विशेषज्ञों ने सरकार के कदम की सराहना की है। उनका कहना है कि इससे भ्रष्टाचार और काले धन पर नकेल
कसने में मदद मिलेगी।

पीएम मोदी के इस कदम से बढ़ी बैंकों की चुनौती

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-