नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेशी हवाई यात्रा पर हुए खर्च का ब्‍यौरा मांगने पर भारतीय वायुसेना ने स्‍पष्‍ट किया है। सूचना के अधिकार के तहत यह जानकारी मांगी गई थी जिस पर वायुसेना ने जवाब दिया है कि प्रधानमंत्री को वायुसेना के उड़ानों पर मुफ्त में यात्रा करने का अधिकार है और इसका कोई बिल नहीं बनता है।

आपको बता दें प्रधानमंत्री कार्यालय से पीएम की विदेश यात्राओं के लिए रिटायर्ड कमोडोर लोकेश बत्रा ने बीबीजे एयरक्राफ्ट की चार्टड उड़ानों के बिल क्लियर करने की प्रक्रिया की जानकारी मांगी थी।

उनका आवदेन रक्षा मंत्रालय को भेज दिया गया था जहां से इसे वायुसेना स्‍थानांतरीत किया गया। वायुसेना ने जवाब दिया ‘ प्रधानमंत्री भारतीय वायुसेना के अति विशिष्‍ट विमानों में मुफ्त सफर के हकदार हैं। ऐसी उड़ानों का कोई बिल नहीं बनता।’

पहले सरकार द्वारा इस संबंध में जानकारी देने से इनकार किया गया था। जिसके बाद पिछले साल 28 अक्‍टूबर को केन्द्रीय सूचना आयोग ने प्रधानमंत्री कार्यालय से प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं से सम्बन्धित एक प्रतिनिधि फाइल मांगी। विदेश मंत्रालय ने आरटीआई कानून के सुरक्षा एवं वैयक्तिक सुरक्षा के प्रावधानों का हवाला देते हुए सूचनाएं देने से इंकार कर दिया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने व्यक्तिगत सुरक्षा का हवाला देते हुए सूचना देने से इंकार कर दिया था।

बत्रा ने आयोग के सामने कहा कि इस मामले में पर्याप्त जनहित शामिल है क्योंकि एयर इंडिया को दी जा रही पुनरुद्धार राशि, जो करोड़ों रुपए बतायी जाती है, करदाताओं की राशि है। उन्होंने वर्तमान एवं पूर्व प्रधानमंत्री की एयर इंडिया के उड़ानों पर की गयी वायु यात्रा पर हुए व्यय का ब्यौरा मांगा था।

पीएम की विदेशी हवाई यात्रा का नहीं बनता बिल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-