लखनऊ में सभी के लिए यह साफ हो गया कि पार्टी पर नियंत्रण के लिए चल रही इस पारिवारिक खींचतान के अंत में शिवपाल बाहर हो गए हैं। समाजवादी पार्टी चुनाव चिह्न मिल जाने के बाद अखिलेश नेताजी से रिश्ते सुधारने में जुटे हैं। ऐसा भी कहा जा रहा था कि बाप-बेटे टिकट बटवारे पर काम कर रहे हैं। वहीं, शिवपाल अकेले पड़ गए हैं।

चुनाव आयोग द्वारा यूपी के सीएम अखिलेश यादव को समाजवादी पार्टी का चुनाव चिह्न मिलने के बाद उनके चाचा शिवपाल यादव अकेले पड़ते नजर आ रहे हैं। आलम यह है कि अब वह सिर्फ अपने चंद वफादारों से घिरे हैं और जब कोई उनके पास आ रहा है तो उसे वह कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री के पास जाएं।

शिवपाल के पास टिकट की आस में आए कुछ लोगों को खाली हाथ वापस जाना पड़ा जब शिवपाल ने जवाब दिया, “टिकट हम नहीं, मुख्यमंत्री दे रहे हैं।” उनकी बातचीत छोटी थी, लेकिन इसी से शिवपाल की बेबसी का पता लग रहा था कि अब उनके पास पार्टी का कोई अधिकार नहीं रह गया।

पार्टी और सिंबल अखिलेश को मिलने के बाद अकेले पड़े शिवपाल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-