delhih 630 we

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से अलग रह रहीं उनकी पत्नी पायल अब्दुल्ला से सरकारी बंगला जबरन खाली करा लिया गया है। सोमवार को पुलिस टीम ने अकबर रोड स्थित बंगले से उनका नेमप्लेट हटा दिया। पुलिस टीम ने दरवाजा तोड़ने के साथ उनका कुछ सामान भी बाहर निकाल दिया।

दिल्ली हाई कोर्ट ने गत शुक्रवार को पायल अब्दुल्ला को सरकारी आवास शालीनता से खाली करने का आदेश दिया था लेकिन इसके बावजूद बंगला खाली नहीं किया गया। इसे देखते हुए जम्मू कश्मीर पुलिस टीम जबरन खाली कराने पहुंच गई।

हालांकि यह पता नहीं चल पाया है कि कार्रवाई के दौरान पायल और उनके बेटे बंगले में थे या नहीं। बता दें कि सात, अकबर रोड स्थित यह बंगला उमर अब्दुल्ला को 1999 में केंद्रीय मंत्री रहते हुए आवंटित किया गया था। बाद में उमर और पायल अलग हो गए। पायल अपने दोनों बेटों के साथ तब इसे ही बंगले में रह रही थीं।

इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि पायल अब्दुल्ला की सरकारी आवास देने की मांग पूरी तरह अवैध है। अदालत ने उनको सरकारी आवास से बेदखल करने का आदेश दिया। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पायल अब्दुल्ला को लुटियन जोन (7 अकबर रोड) में आवंटित सरकारी बंगले को खाली करने का निर्देश दिया था।

पायल ने केंद्र के इस निर्णय को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। पायल के अनुसार, उन्हें व उनके बच्चों को जेड और जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त है। उनकी सुरक्षा में 94 सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। सरकार उन्हें निजी फ्लैट में जाने के लिए कह रही है, जहां उनकी सुरक्षा संभव नहीं है।

 

पायल अब्दुल्ला से खाली कराया गया बंगला

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-