rajnathw

नई दिल्ली। पाकिस्तान से सार्क सम्मेलन में भाग लेने बाद भारत लौटे गृह मंत्री राजनाथ सिंह का दौरा सोशल साइट पर जमकर ट्रेंड कर रहा है। गौरतलब है कि राजनाथ सिंह इस्लामाबाद में आयोजित 7वें सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान गए थे। जहां पर राजनाथ सिंह ने आतंकवाद को लेकर पड़ोसी मुल्क को जमकर खरीखरी सुनाई। तो वहीं पाकिस्तान ने राजनाथ सिंह के भाषण के मीडिया कवरेज पर रोक लगा दी। इसके बाद वह लंच में भी शामिल नहीं हुए।

बस फिर क्या था इसी बात पर सोशल मीडिया पर जमकर पोस्ट और कमेंट होने शुरू हो गए। लोगों ने अपने फेसबुक पेज और ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया। इसमें Madhurendra Kumar ने लिखा कि  “सुना है पाकिस्तान ने अपने कैमरों को बुर्का पहना दिया जब राजनाथ सार्क गृह मंत्रियो की बैठक में बोलने लगे। अभी ये हाल हुवा, सोच रहा हूं कि आगामी सार्क की बैठक में कही पाक मीडिया पर नापाक आपातकाल लागू हो जाए।

सोशल मीडिया पर पाकिस्तान में राजनाथ सिंह के खाने में शामिल नहीं होने पर एक बाद एक लगातार पोस्ट की जैसे बाढ़ सी गई। Umashankar Singh ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि राजनाथ सिंह को पाकिस्तान उसी तरह भेजा गया था जिस तरह इस सरकार के सत्ता में आने के बाद VK Singh को पाकिस्तान डे पर पाक हाई कमीशन भेजा गया था!

इनके अलावा Israr Ahmed Sheikh ने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज कराते हुए लिखा कि राजनाथ सिंह की बजाय अगर अर्नब गोस्वामी को पाकिस्तान भेजते तो वो कश्मीर के साथ बलूचिस्तान भी ले आता!!!

तो वहीं Samar Anarya ने लिखा कि पाकिस्तान ने किसी मीडिया को सार्क सम्मेलन में राजनाथ सिंह के भाषण की रिकार्डिंग की इजाजत नहीं दीपूरी तरह ब्लैक ऑउट किया। किसी अंतर्राष्ट्रीय सम्मलेन में ऐसा अपमान किसी देश का हुआ हो, मुझे याद नहीं आता। बाकी इस सरकार से किसी कार्यवाही की उम्मीद तो अब भक्तों ने भी छोड़ दी है, हम सिकुलरों की क्या बिसात।

Nisar Siddiqui ने अपने फेसबुक पेज पर कहा कि राजनाथ सिंह ने पाक नमक नहीं खाया..

जिस राजनाथ सिंह को 85 फीसदी पर अत्याचार पर गुस्सा नहीं आता। उसे पाकिस्तान पर गुस्सा आता है। आखिर वो बचाना किसे चाहते हैं। देश को बचाना होता तो 85 फीसदी को भी बचाते। इसका साफ मतलब है उन्हें पाकिस्तान के बहाने 15 फीसदी जातिवादी और धार्मिक कट्टर लोगों को बचाना है। बहुजन खेल को समझिए। इनके धूर्त राष्ट्रवाद को समझिए। आपका वोट लेते ही आप पर ही लाठी बरसाएंगे। इस खेल में मदारी के साथ बंदर मीडिया है। यह प्रतिक्रिया Shambhu Kumar Singh ने अपनी फेसबुक पेज पर दर्ज की।

इनसभी लोगों के साथसाथ  Dilip C Mandal ने लिखा किप्रिय राजनाथ जी, आपको पाकिस्तान मीडिया ने ब्लैक आउट कर दिया और इंडियन मीडिया को कवरेज नहीं करने दिया तो आप नाराज हो गए. बिरयानी खाए बगैर चले आए. यहां हम भारत के दलित, ओबीसी, आदिवासी, मुसलमानों को देखिए. साल दर साल हमारा ब्लैक आउट होता है. चैनल खबर नहीं दिखाते. हमारे हितों के खिलाफ छपता है. फिर भी हम पैसा देकर अखबार खरीदते हैं और चैनल भी खर्च करके देखते हैं. हमारे जैसा जिगर आपमें कहां? वैसे, हम पाकिस्तान के बर्ताव कीकड़ी निंदाकरते हैं।

पाकिस्तान से लौटे राजनाथ सिंह को “सोशल मीडिया की बिरयानी”

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-